देश राजनीती राज्य होम

मर्यादा भूलकर खुद सीबीआई की जगह बैठ गई है भाजपा, किस हक से लगा रहे आरोप

मर्यादा भूलकर खुद सीबीआई की जगह बैठ गई है भाजपा, किस हक से लगा रहे आरोप: अखिलेश

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अवैध खनन घोटाले को लेकर भाजपा सरकार व मंत्रियों की तरफ से लगाए जा रहे आरोपों पर कहा कि भाजपा अपनी मर्यादा भूलकर खुद सीबीआई की जगह बैठ गई है। अब तक सीबीआई की तरफ से कोई नोटिस या समन तक नहीं आया है। भाजपा सरकार के मंत्री किस अधिकार से कथित आरोप लगा रहे हैं। वे सपा मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि झूठ, फरेब और साजिश भाजपा के चरित्र में है। इसी के बल पर उसने दिल्ली की कुर्सी हासिल की थी। लेकिन अब जनता उनसे सावधान हो गई है। नोटबंदी से लाखों नौकरियां व 100 से अधिक लोगों की जान गईं .

जीएसटी से सिर्फ बड़ी कंपनियों को फायदा हुआ। किसानों की उपेक्षा करने वाली भाजपा सरकार ने उद्योगपतियों का 3.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया।

सपा-बसपा गठबंधन की खबर से बौखलाया भाजपा नेतृत्व

अखिलेश ने कहा, सपा-बसपा के गठबंधन की खबर से भाजपा नेतृत्व बुरी तरह बौखला गया है। भाजपा सरकार सीबीआई को कठपुतली बनाकर झूठे और अनर्गल आरोपों से बदनाम करने की साजिश कर रही है। इसका करारा जवाब दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा की मंशा पूरी व्यवस्था पर कब्जा करने की है। कार्यकर्ता नए वर्ष में भाजपा के सफाए और सपा को जिताने का संकल्प लेकर जाएं। भाजपा सरकार के झूठे वादों से जनता के हर वर्ग में असंतोष है।

किसान, नौजवान, व्यापारी, महिलाएं सभी उत्पीड़न के शिकार हैं। पिछले उपचुनावों और हाल में पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाजपा की शिकस्त से जनता का गुस्सा सामने आ गया है।

‘ भाजपा सरकार के घोटालों की लंबी सूची अब उजागर हो चली है’

उन्होंने कहा, भाजपा सरकार के घोटालों की लंबी सूची अब उजागर हो चली है। भाजपा सरकार जाते-जाते ‘सब कुछ खा कर जाएगी‘। 50 हजार करोड़ का अडानी पावर घोटाला, बाल्को घोटाला, दाल घोटाला, चीनी घोटाला, बुलेट ट्रेन घोटाला, कालाधन घोटाला, गड्डा मुक्त सड़क घोटाला, व्यापम घोटाला, ललित मोदी, नीरव मोदी, विजय माल्या घोटाला, अमित शाह के बेटे का घोटाला, स्वेटर जूते में घोटाला, फसल बीमा घोटाला, ईवीएम घोटाला, शौचालय घोटाला, कर्जमाफी घोटाला, प्रधानमंत्री आवास एवं उज्ज्वला घोटाले तो भाजपा सरकार के साथ लगे ही हैं सबसे बड़ा  35 हजार करोड़ का राफेल विमान खरीद घोटला है जिसकी सफाई ठीक से भाजपा सरकार नहीं दे पा रही है। केंद्र सरकार भ्रष्टाचार के दलदल में इतना धंस चुकी है कि 2019 में उसका कीचड़ निकलना नामुमकिन है।

Shivam Tiwari
   Reporter
  India Now24