Breaking News खेल देश राज्य होम

आत्म रक्षा व आत्म विश्वास के लिए कराटे जैसा खेल जरुरी: उमेश अग्रवाल

आत्म रक्षा व आत्म विश्वास के लिए कराटे जैसा खेल जरुरी: उमेश अग्रवाल

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। विधायक उमेश अग्रवाल का कहना है कि बच्चों में आत्म विश्वास मजबूत करने और उन्हें आत्म रक्षा के गुर सिखाने के लिए कराटे जैसे खेल आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कराटे खेल से बच्चों के शरीर में स्फूर्ति भी आती है जिससे वे आलस्य के शिकार भी नहीं होते। सेक्टर पांच में साईं कराटे अकेडमी के पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बच्चों व उनके अभिभावकों तथा प्रशिक्षकों को संबोधित करते हुए विधायक ने कहा कि खेलों में भाग लेने से बच्चों में प्रतिस्पर्धा की भावना बढ़ती है जो उन्हें जीवन में आगे बढ़ने में सहायक साबित होती है। प्रतिस्पर्धा की भावना ही उन्हें किसी भी प्रतियोगिता में सफलता हासिल करने के लिए प्रेरित करती है। पुरस्कार समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए जाने माने मनोचिकित्सक डाॅ. ब्रहमदीप सिंधु ने कहा कि खेलों से बच्चों का मानसिक स्वास्थ्य ही ठीक रहता है और उनकी निर्णय लेने की क्षमता का विकास होता है। इस अवसर पर विधायक उमेश अग्रवाल ने विभिन्न वर्गों में बेहतर प्रदर्शन करने वाले बच्चों को पुरस्कार व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित भी किया। उन्होंने ब्लैक बेल्ट चैंपियन कैटिगरी में सूरज सैनी, आकाश सैनी, अरवदीप सिंधु, नैना गोठवाल, मायरा गुप्ता, काजल यादव, यशप्रीत सिंह, अंशु यादव, सूदी संजू, राशि सिंह, अक्षत त्यागी, यश दहिया व विश्वा को तथा सत्रह वर्षीय रोहित जांगड़ा को प्लेयर आफ द इयर, आठ वर्षीय कृष्णा शर्मा को व पच्चीस वर्षीया अराधना चैहान को बेस्ट परफार्मर आॅफ द इयर, धु्रव गर्ग, विद्यांशी सिंह व अमृतेष गोठवाल को यंगस्ट अचिवर आॅफ द इयर के पुरस्कार से सम्मानित किया। पिछले 15 वर्ष से बच्चों को कराटे प्रशिक्षण दे रहे साईं अकेडमी के निदेशक एवं कोच सुनील सैनी ने कहा कि उनका उद्देश्य बच्चों को बेहतर प्रशिक्षण देकर उनमें आत्मविश्वास जगाना व उनमें खेल भावना बनाए रखना रहता है। उन्होंने कहा कि बच्चों में खेल भावना विकसित होने से वे अपने व्यवसायिक एवं सामाजिक जीवन में बेहतर तालमेल बनाए रखने में कामयाब रहते हैं।