देश राज्य होम

वर्ष 2018 में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार के लिए  उठाए गए कदम

वर्ष 2018 में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार के लिए  उठाए गए कदम

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम । गुरूग्राम जिला में वर्ष 2018 में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार के लिए कदम उठाए गए। जिला में जहां इस साल जिला की पहली सरकारी गुरूग्राम युनिवर्सिटी का निर्माण कार्य शुरू हुआ वहीं इसकी कक्षाएं भी सैक्टर-51 के राजकीय महाविद्यालय में शुरू की गई। स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए जिला के सैक्टर 10 स्थित नागरिक अस्पताल में हार्ट सैंटर खोला गया।
निर्माणाधीन गुरूग्राम विश्वविद्यालय के सैक्टर-51 के अस्थाई कैंपस में 5 फैक्लटी में 11 कोर्स शुरू किए गए हैं। इनमें बैचलर ऑफ फार्मेसी(60 सीट), बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी(60 सीट), एमएससी पब्लिक हैल्थ (40 सीट), बीटैक कॅम्प्यूटर साईंस एंड आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस(60सीट), एमकॉम(40सीट), 12वीं कक्षा के बाद एमकॉम इंटीग्रेटिड (60 सीट), एमबीए (60सीट), 12वीं के बाद एमबीए इंटीग्रेटिड (60सीट), एमए अंग्रेजी (30 सीट), एमए पब्लिक पॉलिसी एंड गर्वनेंस (30 सीट) तथा एमएससी एप्लाइड सायक्लोजी(30सीट) शामिल है। इस प्रकार, इन 11 कोर्सों में कुल 530 सीटों पर दाखिला हुआ है। विश्वविद्यालय के पहले कुलपति डा. मार्केण्डेय  आहुजा के अनुसार विश्वविद्यालय के लिए सरकार ने 250 पदों पर नियुक्ति की अनुमति भी दे दी है।
इसके अलावा, जिला के दो राजकीय काॅलेजों में भी इस वर्ष से शैक्षणिक सत्र शुरू किए गए। जिला के सोहना उपमण्डल के गांव रिठौज़ में 1753.00 लाख रूप्ये की राशि से एक राजकीय डिग्री कालेज़ का निर्माण शुरू किया गया है तथा मानेसर में लगभग 1200 लाख रूपए की लागत से राजकीय महाविद्यालय का निर्माण होना है। इन दोनों काॅलेजों के लिए विद्यार्थियों का दाखिला करके कक्षाएं भी शुरू हो चुकी हैं। मानेसर के राजकीय महाविद्यालय के विद्यार्थियों की कक्षाएं राजकीय बहु तकनीकि संस्थान मानेसर में लगाई जा रही हैं जबकि रिठौज राजकीय महाविद्यालय की कक्षाएं वहां के सरकारी स्कूल में अस्थाई तौर पर लगाई जा रही हैं।
गुरूग्राम विश्विद्यालय की स्थापना तथा दो नए राजकीय महाविद्यालयों मंे शैक्षणिक कार्य शुरू होने से जिला के विद्यार्थियांे को उच्च शिक्षा के इस वर्ष में नए अवसर प्राप्त हुए हैं। यही नहीं, हरियाणा और देश की पहली स्किल युनिवर्सिटी का मुख्यालय भी गुरूग्राम में ही शुरू किया गया है जिससे गुरूग्राम व आसपास के युवाओं को अपना हुनर निखारने मंे मदद मिली है और इन युवाओं को कंपनियों में रोजगार के अलावा, अपना रोजगार शुरू करने के लिए मार्गदर्शन मिला। इससे युवाओं की सोच में बदलाव आया है।
इस साल जिला गुरूग्राम में सरकार स्तर पर स्वास्थ्य सुविधाओं में भी काफी विस्तार हुआ है। एक ओर जहां जिला के गांव खेड़की माजरा में मैडिकल कालेज की स्थापना का कार्य शुरू किया गया है वहीं दूसरी ओर यहां पर सरकारी अस्पताल में आधुनिक मैडिकल सुविधाएं शुरू की गई जिनमें सैक्टर 10 स्थित नागरिक अस्पताल में हार्ट सैंटर शामिल है। यह हार्ट सैंटर पीपीपी माॅडल पर संचालित किया जा रहा है जिसमें खुले बाजार और प्राईवेट अस्पतालों की अपेक्षा बहुत कम दरों पर लोगांे को एंज्योप्लास्टी, एंज्योग्राफी, पेसमेकर इंस्टालेशन आदि हृदय रोग के ईलाज से संबंधित आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। इस सैंटर पर हार्ट संबंधी बिमारियों का वाजिब दरों पर ईलाज किया जा रहा है। यहां ईलाज के लिए आने वाले मरीजों को ओपीडी की फीस मात्र 116 रूपए देनी होती है जबकि ईको 982 रूप्ए में, टीएमटी टैस्ट 326 रूप्ए में तथा कोरोनरी एंज्योग्राफी 3519 रूपए में की जा रही है जोकि बाजार में वसूली जाने वाली राशि से काफी कम है। इस सैंटर में सिंगल स्टैंट के स्थान बलुन कोरोनरी एंज्योग्राफी 48289 रूप्ए की वाजिब दरों पर की जा रही है और ये सभी सुविधाएं बीपीएल परिवारों को निःशुल्क उपलब्ध हैं। यही नहीं, गुरूग्राम के पुराने नागरिक अस्पताल के विस्तार की भी योजना इस वर्ष में बनाई गई जिसके अनुसार यह अस्पताल साथ लगते सरकारी स्कूल की भूमि को मिलाकर 9 एकड़ में बनाया जाएगा।
जिला के फरूखनगर ब्लाॅक में भी एक सरकारी डिग्री काॅलेज तथा 50 बैड के अस्पताल की आधारशिला रखी गई है। इसके अलावा, फरूखनगर को इस साल में नवनिर्मित बाईपास का तोहफा मिला जिसके निर्माण पर लगभग 26.45 करोड़ रूप्ए की लागत आई है। फरूखनगर में इस वर्ष में 1 करोड़ 22 लाख रूप्ए के विकास कार्यों के उद्घाटन के अलावा, लगभग 3.50 करोड़ रूप्ए के अन्य विकास कार्यों के निर्माण की शुरूआत भी हुई। उद्घाटन वाले कार्यो में मिनी बाईपास से झज्जर रोड़ तक सड़क, फरूखनगर के राजीव चैक से बसीरपुर गेट तक  की सड़क, सिविल अस्पताल में लाईबे्ररी, पशु अस्पताल में मीटिंग हाल, वार्ड नंबर-1,2,6 आदि में सड़क का निर्माण शामिल हैं।
000