Breaking News देश राज्य होम

2017-18 का हरियाणा राज्य परिवहन का घाटा 680 करोड़ रूपए

views
2

2017-18 का हरियाणा राज्य परिवहन का घाटा 680 करोड़ रूपए

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम  India Now24

गुरूग्राम। राज्य सरकार अब हरियाणा राज्य परिवहन का घाटा कम करने पर जोर दे रही है। सरकार की विभिन्न योजनाआंे पर प्रगति की समीक्षा करने के लिए गुरूग्राम पहंुचे सीएमजीजीए के परियोजना निदेशक डा. राकेश गुप्ता ने कहा कि अच्छी एवरेज देने वाले चालकों को प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने बताया कि हरियाणा प्रदेश में राज्य परिवहन का वर्ष 2017-18 का वित्तीय घाटा 680 करोड़ रूपए है, जिसे कम करने के उपाय सभी को मिलकर खोजने होंगे।

डा. गुप्ता ने बताया कि उत्तर प्रदेश जैसे राज्य ने भी रोड़वेज का घाटा कम कर लिया है और बैंगलोर की सफलता की अपनी अलग ही कहानी है। उन्होंने कहा कि राज्य परिवहन के चालकों को यह समझाया जाए कि यही उनके रोजगार का साधन है, इसलिए इसे घाटे से उबारने के ईमानदारी से प्रयास किए जाएं तो सभी के लिए बेहत्तर होगा। उन्होंने सुझाव दिया कि परिवहन डिपो के महाप्रबंधक अच्छी एवरेज देने वाले चालको को ड्राईवर आॅफ द मन्थ घोषित करके उसकी फोटो डिपो में सार्वजनिक तौर पर लगा सकते हैं।

इस बैठक मंे बताया गया कि गुरूग्राम जिला में राज्य परिवहन की बसों की एवरेज 3.96 किलोमीटर प्रतिलीटर है जबकि राज्य की औसत दर 4.57 किलोमीटर प्रति लीटर की है। प्रदेश के जिलों में सबसे अच्छी 4.83 किलोमीटर प्रति लीटर की एवरेज कुरूक्षेत्र जिला की है। बैठक में गुरूग्राम के राज्य परिवहन डिपो के महाप्रबंधक गौरव अंतिल ने बताया कि गुरूग्राम शहर में भीड़ रहने की वजह से बसों की एवरेज प्रभावित होती है। उन्होंने आश्वासन दिया कि इस एवरेज को बढाने के प्रयास किए जाएंगे। साथ ही विश्वास भी जताया कि इस एवरेज को अधिकतम 4.1 किलोमीटर प्रति लीटर तक लाया जा सकता है।

डा. गुप्ता ने सभी महाप्रबंधकों से कहा कि वे एवरेज बढाने के लिए स्वयं मोनिटरिंग करें। उन्होंने मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगियों से भी कहा कि वे इसका अध्ययन करके यदि कोई गैप हो तो उसके बारे में महाप्रबंधको को अवगत करवाएं। साथ ही डा. गुप्ता ने उपायुक्तों से भी कहा कि वे समय-समय पर इसकी समीक्षा करते रहें।