Breaking News देश राज्य होम

स्वच्छ सर्वेक्षण में नागरिकों की फीडबैक का भी है  बहुत महत्व

views
2

स्वच्छ सर्वेक्षण में नागरिकों की फीडबैक का भी है  बहुत महत्व

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम  India Now24

गुुरूग्राम। स्वच्छ सर्वेक्षण में नागरिकों की फीडबैक का भी बहुत महत्व है। नागरिकों को यह मालूम होना चाहिए कि उनका शहर स्वच्छ सर्वेक्षण प्रतियोगिता में भाग ले रहा है।

इस बारे में जानकारी सीएमजीजीए कार्यक्रम के परियोजना निदेशक डा. राकेश गुप्ता की अध्यक्षता में गुरूग्राम के लघु सचिवालय में आयोजित गुरूग्राम मण्डल के जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में दी गई। बैठक में बताया गया कि कुल जनसंख्या की 10 प्रतिशत आबादी को स्वच्छता एैप का प्रयोग करना जरूरी है।

स्वच्छता सर्वेक्षण (शहरी) जनवरी 2019 में होने जा रहा है। नगर निगम गुरूग्राम के आयुक्त यशपाल यादव ने बताया कि नगर निगम क्षेत्र को ओडीएफ प्लस घोषित करने के लिए प्रक्रिया पूरी करके अगले दो दिन में आवेदन कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए रजिस्टेªशन पहले ही किया जा चुका है और गुरूग्राम शहर की स्टार रेटिंग के लिए भी रजिस्टेªशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नगर निगम क्षेत्र में 10839 व्यक्तियों द्वारा स्वच्छता एैप डाउनलोड किया गया है।

श्री यादव ने बताया कि नगर निगम के 50 प्रतिशत से ज्यादा क्षेत्र में घर-घर से कचरा उठाने का कार्य इको ग्रीन कंपनी द्वारा किया जा रहा है लेकिन  अभी तक इस कंपनी का कार्य संतोषजनक नहीं पाया गया। इसके बारे में कंपनी के शीर्ष अधिकारियांे को सूचित भी किया गया है। श्री यादव ने बताया कि कंपनी द्वारा हाल ही में अपनी मैनेजमंेट में बदलाव किया गया है और भरोसा दिलाया गया है कि वह अपने कार्य में सुधार करेगी। उन्होंने बताया कि यदि कंपनी अपने कार्य में सुधार नहीं कर पाती है तो एक जोन उनसे वापिस ले लिया जाएगा। इसके लिए कंपनी को शनिवार तक का समय दिया गया है। साथ ही श्री यादव ने बताया कि इस दौरान कचरा निस्तारण में आरडब्ल्यूए का सहयोग लिया गया है। उन्होंने बताया कि घरों से कचरा इक्कट्ठा करके वीकेंद्रित कंपोस्ट प्लांट लगाने के लिए 11 ऐजेंसिया फाईनल की गई हैं। इससे कचरे को कंपोस्ट में परिवर्तित करके वहीं पर प्रयोग किया जा सकेगा जिससे लैंडफिल में भी 50 प्रतिशत की कमी आएगी।

डा. गुप्ता ने नगर निगम आयुक्त से कहा कि वे इंदौर के माॅडल का अध्ययन करें और कोशिश करें कि इस बार गुरूग्राम शहर स्वच्छता सर्वेक्षण में देश में अव्वल स्थान प्राप्त करे। उन्होंने यह भी कहा कि स्वच्छता एैप के माध्यम से सिटीजन फीडबैक भी ली जाएगी। साथ ही उन्होंने बताया कि स्टार रेटिंग के लिए 15 दिसंबर तक आवेदन किया जा सकता है और यह सैल्फ रेटिंग होगी। परंतु इसमें ध्यान यह रखना है कि यदि आप अपने शहर को ज्यादा अच्छा आंकते हैं और केंद्र सरकार की स्वायत कंपनी के आंकलन में कम पाया जाता है तो उसकी निगेटिव पैनेल्टी बहुत ज्यादा है। स्वच्छता सर्वेक्षण 12 पैरामीटर पर आधारित होगा।

डा. गुप्ता ने आज बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के लिए पीसीपीएनडीटी एक्ट को प्रभावी ढंग से लागू करने, पोक्सो एक्ट को लागू करने के अलावा, 26 जनवरी तक शिवधाम नवीकरण योजना के अंतर्गत सभी शमशान घाट व कब्रिस्तान की चार दिवारी करवाने, वहां परी शैड लगवाने, जलापूर्ति का कनैक्शन तथा रास्ता ठीक करवाने की समय सीमा निर्धारित की और कहा कि यह कार्य सामाजिक भागीदारी से करवाएं। उन्होंने जिला की सड़कों को 31 दिसंबर तक आवारा पशुओं से मुक्त करने का भी लक्ष्य रखा।