देश राजनीती राज्य होम

बिछिया के कतर्नियाघाट वन क्षेत्र से कैमरे गायब होने का सिलसिला थम नहीं रहा है

बहराइच ब्रेकिंग न्यूज :

बिछिया के कतर्नियाघाट वन क्षेत्र से कैमरे गायब होने का सिलसिला थम नहीं रहा है। बाघों की गणना के लिए रेंजों में लगाए गए चार और थर्मो सेंसर कैमरे चोरी हो गए।

डीएफओ ने निरंतर हो रहे कैमरा चोरी की घटनाओं को देखते हुए सभी रेंजों को अलर्ट कर दिया है। कांबिंग करने के निर्देश दिए हैं।

कतर्नियाघाट संरक्षित वन क्षेत्र में इस समय बाघों की गणना का कार्य चल रहा है। इसके लिए डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की ओर से 306 चिन्हित स्थानों पर 612 कैमरे लगाए गए थे।

निरंतर कैमरों की निगरानी हो रही है। इसके बावजूद कैमरा चोरी की घटनाएं थम नहीं रही हैं।आज रात कतर्नियाघाट रेंज से तीन और निशानगाड़ा रेंज से एक थर्मो सेंसर कैमरा चोरी हो गया।

सुबह वन रक्षक जब गश्त करते हुए कैमरों की गिनती कर रहे थे तो कतर्नियाघाट और निशानगाड़ा रेंज में कैमरे गायब देखकर सभी सकते में आ गए।

डीएफओ जीपी सिंह ने बताया कि निरंतर हो रही कैमरा चोरी की घटनाओं पर अंकुश के लिए सभी रेंजों के वन क्षेत्राधिकारियों को सूचना भेजकर अलर्ट कर दिया गया है।

वन दरोगा की अगुवाई में सभी बीटों में सघन कांबिंग के निर्देश दिए गए हैं। डीएफओ ने कहा कि कैमरा चोरी के मामले में कतर्नियाघाट के वन क्षेत्राधिकारी पीयूष मोहन श्रीवास्तव व निशानगाड़ा के वन क्षेत्राधिकारी दयाशंकर सिंह ने सुजौली थाने में तहरीर दी है।

पहले भी चोरी हो चुके तीन कैमरे
अक्तूबर में बाघों की गणना के लिए थर्मो सेंसर कैमरे लगाए गए थे। इनमें तीन कैमरे शुरुआती दौर में ही चोर चुरा ले गए थे। उन कैमरों का अब तक पता नहीं चल सका है।

केस दर्ज कर हो रही जांच
सुजौली थानाध्यक्ष अफसर परवेज ने बताया कि कैमरा चोरी के मामले में पहले ही केस दर्ज है। शुक्रवार को हुई चोरी की भी तहरीर मिली है।

लेकिन जंगल का मामला होने के कारण अब तक चोर पकड़ में नहीं आ सके हैं। फिर भी जांच की जा रही है ।आसपास के लोगों से पूछताछ की गई है ।पुलिस ने बताया कि
जांच की जा रही है, शीघ्र ही पता चल जाएगा !

रिपोर्टर राहुल कुमार गौतम बहराइच इंडिया नाउ 24