देश राज्य होम

महिला सरपंच से मारपीट के मामले ने पकड़ा तूल, पटौदी के बीडीपीओ कार्यालय में हुई अहम बैठक

सरपंचों ने एक मत से सामाजिक समाधान का समर्थन किया

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। जिला की पटौदी विधानसभा क्षेत्र से पहली महिला विधायक बिमला चौधरी के हल्के पटौदी में एक महिला सरपंच के साथ मारपीट और जाति सूचक शब्द कहने का मामला तूल पकड़ गया है। अब यह मामला पंचायत एकता मंच के प्रतिनिधियों के बीच में पहुंच गया है । इस मामले को लेकर गुरुवार को पटौदी के खंड विकास एवं पंचायत कायाज़्लय के सभागार में पटौदी क्षेत्र के सभी सरपंचों की एक बैठक बुलाई गई। इस बैठक की अध्यक्षता पंचायत एकता मंच के जिला अध्यक्ष अजीत सिंह ने की।
इस मौके पर पीडि़त महिला सरपंच के प्रतिनिधि के द्वारा सरपंचों की इस बैठक में पूरे घटनाक्रम की विस्तार से जानकारी दी गई और बताया गया कि सरकारी योजना के तहत काम करते हुए गांव के ही कुछ लोगों के द्वारा बाधा डालते हुए अनावश्यक रूप से मारपीट की गई। इतना ही नहीं महिला सरपंच को जाति सूचक अपशब्द कहे गए। महिला सरपंच के प्रतिनिधि के आरोप अनुसार कुछ लोगों द्वारा अचानक किए गए हमले और मारपीट में महिला सरपंच के साथ-साथ बीच बचाव के लिए आए महिला सरपंच के ससुर को भी चोटें आई हैं।\

इस मामले की शिकायत पुलिस में की जाने के बाद महिला थाना मानेसर के द्वारा आरोपी पक्ष के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पीडि़त पक्ष का यह आरोप है कि लगभग 15 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई संतोषजनक कार्रवाई नहीं की। पीडि़त महिला सरपंच के प्रतिनिधि के द्वारा इस पूरे प्रकरण में सरपंच एकता मंच से न्याय की गुहार लगाते हुए इंसाफ दिलाई जाने की मांग की। साथ ही यह भी आश्वासन दिया कि सरपंच एकता मंच और मंच के द्वारा गठित कमेटी का जो भी फैसला होगा, वह उन्हें स्वीकार्य होगा। इस मौके पर सरपंच कैप्टन बलवीर सिंह, ओम प्रकाश, राधेश्याम, जयवीर, हरिओम, विक्रम यादव, कपिल पुनिया, मुकेश, यादवेंद्र सिंह गोगली, पवन, सुमित्रा, सुनीता देवी, जयश्री, ज्ञान सिंह सहित अनेक सरपंच भी मौजूद थे ।