देश राज्य होम

३ सप्ताह से चल राइ प्लांटेशन ड्राइव का  समापन

३ सप्ताह से चल राइ प्लांटेशन ड्राइव का  समापन

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

एनवायरर (इंडिया की पहली पर्यावरण एप) व  बीएनआई गुड़गांव के सदस्यों ने क्लीन एंड ग्रीन गुडगाँव के संदेश को बढ़ावा देने के लिए किया पौधारोपण

आने वाले महीनों में १०००० से अधिक पौंधे लगाए जायेंगे

  • नीम, पीपल, गुलमोहर, पिलखा , शहतूत , टीक और सीरीस के पौधे लगाए गए

  एनवायरर (इंडिया की पहली पर्यावरण एप) व  बीएनआई (विश्व की सबसे बड़ी रेफरल जनरेटिंग ऑर्गनाइजेशन) गुड़गांव के सदस्यों की तरफ से अकलीमपुर में १८६६ से अधिक पौंधे लगाए गए. इस ड्राइव का उद्देश्य क्लीन एंड ग्रीन गुडगाँव के संदेश को बढ़ावा देना रहा. नीम, पीपल, गुलमोहर, पिलखा , शहतूत , टीक और सीरीस के पौधे लगाए गए।  इस ड्राइव में सभी आयु के लोगों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया. आने वाले महीनों में १०००० से अधिक पौंधे लगाए जायेंगे जो गुडगाँव के अलग अलग हिस्सों में होने.

 वृक्षारोपण अभियान को तीन चरणों में विभाजित किया गया है, जहां तीन सप्ताह के लिए बीएनआई गुड़गांव के ७ चैप्टर मिलकर हर सप्ताह इस अभियान को चलाया , जिससे सभी २१ चैप्टर का बराबर योगदान सुनिश्चित किया जा सके। वृक्षारोपण अभियान का पहला चरण ४ अगस्त २०१९ को आयोजित किया गया था, जिसमें सदस्यों ने एनवायरर एप की मदद से कुल ५३३ पौधों को रोपित किया था। सदस्यों को इस अभियान में उनके दोस्तों और परिजनों का भी साथ मिला। अभियान की खूबसूरती उस समय और ज्यादा बढ़ गई, जब बच्चों ने पेड़ लगाने के लिए आगे बढ़ने के साथ ही किसानों से बातचीत कर जानकारी लेने में भी रुचि दिखाई। असली नजारा वह था, जब अकलीमपुर गांव के प्रगतिशील सरपंच ने सभी को यह बताया कि कैसे एनवायरर ने किसानों को रोजगार देकर उनके दैनिक जीवन स्तर में सुधार करते हुए गांव के विकास में सहयोग दिया है। यह संगठन के कंधे पर चार सितारे लगने जैसा अनुभव था।

 बीएनआई की एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आरती कोच्चर ने सभी का आभार जताया।बीएनआई सदस्य संजीव खेत्रपाल और सौरभ शर्मा ने संयुक्त रूप से बताया कि अगर कोई भी अपने लिए और आने वाली पीढ़ियों के लिए एक सुखद भविष्य चाहता है, तो वनों का निर्माण करने की दिशा में कदम उठाना कितना महत्वपूर्ण है । उन्होंने आगे कहा,” धरती माता के प्रति आभार प्रकट करने के लिए हमने गुड़गांव की वायु गुणवत्ता में सुधार करने को अपना मिशन बना लिया है और अरावली की तलहटी में एनवायरर के वन रोपण अभियान में उसके साथ जुड़ गए हैं। हमारा इरादा 6 महीने की अवधि में कम से कम 1200 पेड़ लगाने का है, जिसे हम बीएनआई गुड़गांव फॉरेस्ट के तौर पर समर्पित करेंगे।

एनवायरर इंडिया के संस्थापक और सीईओ आशीष तिवारी ने बीएनआई सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि अब विश्व की पर्यावरणीय गुणवत्ता में सुधार करना अत्यावश्यक हो गया है। ऐसा केवल व्यक्तियों, समुदायों और कॉरपोरेट्स के साथ साझेदारी करते हुए अपने और आने वाली पीढ़ियों के रहने के लिए मिलकर एक स्वच्छ और सुरक्षित वातावरण का निर्माण करने के जरिए ही किया जा सकता है। उन्होंने आगे चर्चा करते हुए कहा कि एनवायरर एप के जरिए कोई भी व्यक्ति वृक्षारोपण कर सकता है। उन्होंने कहा, “अब आप पेड़ लगाकर और निगरानी रखकर पुरस्कार हासिल कर सकते हैं।

एनवायरर इंडिया के एसोसिएट डायरेक्टर मार्केटिंग पुनीत ढिल्लो ने कहा, जब अपने विस्तार के लिए हमारा विचार वनों की कटाई का था, तो पृथ्वी को बचाने, जीवन को बचाने और वायु प्रदूषण को कम करने के लिए हमारा लक्ष्य वनरोपण के जरिए कार्बन उत्सर्जन की भरपाई करने का होना चाहिए। चलिए जो गलती हमने की है, हमारी आने वाली पीढ़ियों को ताज़ी हवा में सांस दिलाने के लिए पेड़ लगाकर उस गलती में सुधार कर लें।