Breaking News देश राज्य होम

हिसार कोरोना केस मिलने पर जिला में 6 नए कंटेनमेंट जोन बनाए

रिपोर्टर हुसैन हिसार हरियाणा

हिसार उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि नए कोरोना केस मिलने के बाद जिला में 6 नए स्थानों, गांव दौलतपुर, डाबड़ा चौक स्थित मैग्नम होटल, प्रोफेसर कालोनी, तिलक बाजार, तिलक बाजार, रामपुरा मोहल्ला तथा 12 क्वार्टर रोड स्थित गांधी कालोनी में कंटेनमेंट जोन व बफर जोन बनाए गए हैं। कोरोना संक्रमण पर रोक के लिए इनके साथ लगते क्षेत्रों को बफर जोन बनाया गया है।
उपायुक्त ने बताया कि गांव दौलतपुर में सुमित्रा की आंगनवाड़ी केंद्र के पास स्थित अर्जुन पुत्र रामकुमार के मकान से राजकीय उच्च विद्यालय तथा राजकुमार पुत्र ओमप्रकाश के मकान तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन जबकि स्कूल के पास स्थित रमेश पुत्र हजारी लाल के मकान से रमेश पुत्र पूर्ण के मकान तक के क्षेत्र को बफर जोन बनाया गया है। इस क्षेत्र में पीजीटी राजेश कुमार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट जबकि एसडीओ अंकुश गोयल को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।
इसी प्रकार डाबड़ा चौक स्थित मैग्नम होटल के सभी फ्लोर, मुरली सैनेट्री एंड टाइल्स के ग्राउंड फ्लोर तथा मॉडर्न ग्लास गैलरी को कंटेनमेंट जोन तथा डाबड़ा चौक से डबल फाटक तक के क्षेत्र को बफर जोन बनाया गया है। इस क्षेत्र में प्रोफेसर डॉ. मुकुल बिश्रोई को ड्यूटी मजिस्ट्रेट जबकि एसडीओ गजेंद्र सिंह को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।
प्रोफेसर कालोनी/न्यू अग्रसेन कालोनी में उमेश गोयल के मकान नंबर 115ए से पवन कुमार के मकान नंबर 24 तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन तथा प्रोफेसर कालोनी के शेष एरिया को बफर जोन बनाया गया है। इस क्षेत्र में प्रोफेसर डॉ. आर भास्कर को ड्यूटी मजिस्ट्रेट जबकि एसडीओ गजेंद्र सिंह को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।
उन्होंने बताया कि तिलक बाजार में गणेश भवन के सभी फ्लोर को कंटेनमेंट जोन तथा तिलक बाजार के शेष एरिया को बफर जोन बनाया गया है। इस क्षेत्र में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. नीरज खरोर को ड्यूटी मजिस्ट्रेट जबकि एक्सईएन पवन कुमार को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।
इसी प्रकार रामपुरा मोहल्ला में अभिषेक पुत्र सुनील कुमार के मकान नंबर 2030 से हार्दिक के मकान नंबर 2031 तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन जबकि रामपुरा मोहल्ला के शेष एरिया को बफर जोन बनाया गया है। इस क्षेत्र में सहायक वैज्ञानिक डॉ. अनिल पुंगल को ड्यूटी मजिस्ट्रेट जबकि एसडीओ यशपाल श्योराण को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।
उपायुक्त ने बताया कि 12 क्वार्टर रोड स्थित गांधी कालोनी में गोबिंद (मदान कुल्फीवाला) के मकान से हरीश के मकान तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन तथा कालोनी के शेष एरिया को बफर जोन बनाया गया है। इस क्षेत्र में सहायक वैज्ञानिक डॉ. अजय कुमार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट जबकि एसडीओ यशपाल श्योराण को इंसीडेंट कमांडर बनाया गया है।
उपायुक्त ने बताया कि कंटेनमेंट जोन व बफर जोन में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए संदिग्धों की पहचान करने, ऐसे सभी व्यक्तियों की जांच करने, उन्हें क्वारेंटाइन व आइसोलेशन करने तथा सामाजिक दूरी बनाने के अलावा अन्य सभी प्रकार के स्वास्थ्य मापदंडों को लागू करने के लिए एक्शन प्लान बनाया गया है। इसके अंतर्गत सिविल सर्जन को निर्देश दिए गए हैं कि वे प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में आशा वर्कर्स व एएनएमएस की कम से कम एक टीम नियुक्त करें जो कंटेनमेंट जोन में घर-घर जाकर प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग व थर्मल स्कैनिंग करेंगी। इन टीमों के कार्यों की निगरानी व रिपोर्टिंग आदि के लिए सुपरवाइजर डॉक्टर्स की भी एक-एक टीम गठित की जाए। ड्यूटी पर तैनात ड्यूटी मजिस्ट्रेट व प्रत्येक स्टाफ सदस्य को सुरक्षा के मद्देनजर पीपीई किट, एन 95 मास्क, ट्रिपल लेयर मास्क व अन्य आवश्यक उपकरण मुहैया करवाए जाएं। इसी प्रकार कंटेनमेंट जोन व बफर जोन को पूरी तरह से सेनिटाइज करवाया जाए।
उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट जोन में वाहनों सहित सभी प्रकार की आवाजाही की अनुमति पर रोक लगा दी गई है। हिसार के पुलिस अधीक्षक द्वारा कंटेनमेंट जोन के क्षेत्र को पूरी तरह से सील करके व नाके आदि लगवाकर यहां पुलिस बल की तैनाती करवाई जाएगी। बफर जोन में लॉकडाउन के सभी नियमों की सख्ती से अनुपालना करवाई जाएगी। आवश्यक गतिविधियों व वाहनों की आवाजाही के लिए संबंधित उपमंडल के एसडीएम की अनुमति से जारी पास अनिवार्य किया गया है। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर द्वारा कंटेनमेंट जोन व बफर जोन में आवश्यक स्थानों की समुचित बेरिकेडिंग करवाई जाएगी। उन्होंने रोडवेज जीएम को प्रतिदिन नागरिक अस्पताल से प्रभावित क्षेत्रों तक आशा वर्कर्स व एएनएम की टीमों को लाने व ले जाने के लिए बसें लगाने के निर्देश दिए हैं।
उपायुक्त ने बताया कि क्षेत्र के निवासियों को प्रतिदिन की जरूरत की सभी वस्तुओं की होम डिलीवरी करवाई जाएगी। इसके लिए सभी आवश्यक वस्तुओं जैसे राशन, ग्रोसरी, दूध, मेडिसन व फल सब्जियों की होम डिलीवरी की दरें निर्धारित करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। वस्तुओं की डिलीवरी करने वाला व्यक्ति पीपीई किट पहनकर आए और किसी भी घर में प्रवेश न करे बल्कि सामान का पैकेट घर के दरवाजे पर रखकर वापस चला जाए। कंटेनमेंट व बफर जोन में आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी व समुचित सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए सबंधित एसडीएम को ओवर-ऑल इंचार्ज बनाया गया है। उपायुक्त ने प्रभावित क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति, स्वच्छ पेयजल, एंबुलेंस व अन्य पैरा मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति आदि के संबंध में संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं।