Breaking News देश राजनीती राज्य होम

वाराणसी – लक्ष्मीकुंड इलाके में 3 दिनों बाद लोगों ने खरीदी सब्जी; नहीं आ रहे थे सब्जी-ठेले वाले!

कृष्णा राय;
ब्यूरो चीफ,वाराणसी;
India now 24

वाराणसी के लक्ष्मीकुंड इलाके में 3 दिनों बाद लोगों ने खरीदी सब्जी; नहीं आ रहे थे सब्जी-ठेले वाले!

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में तेजी से बढ़े कोरोनावायरस संक्रमण को ध्यान में रखते हुए वाराणसी प्रशासन द्वारा हर एक पहलू को ध्यान में रखते हुए कई दिशा-निर्देश जारी किए गए जिनमें कुछ ऐसे भी कठोर आदेश मौजूद थे जिनके वजह से आम जनता को खासा परेशानियों का सामना भी करना पड़ा।
वाराणसी में कोरोनावायरस की रफ्तार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बीते 8 दिनों में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 42 से ज्यादा हो चुकी है और यह बात भी जान लेना आवश्यक है कि यह अब तक के रजिस्टर्ड केसेस की संख्या है इन सबके अलावा और भी न जाने कितने कोरोना संक्रमित व्यक्ति अब भी वाराणसी जिले में मौजूद है जिन्हें शायद यह पता भी नहीं है कि वह कोविड-19 पॉजिटिव हो चुके हैं, ऐसे लोगों से सतर्क रहने की आवश्यकता है।
पिछले महीने की 28 तारीख तक,कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों की संख्या 49 पहुंच गई थी जिसमें सिर्फ 28 अप्रैल को ही 12 नए मामले सामने आने से पूरे जिले में हड़कंप मच गया था। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन द्वारा कई नए दिशानिर्देश जारी किए गए थे। इन सभी दिशानिर्देशों में सब्जी मंडीयों को लेकर भी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई थी जिसमें यह बताया गया की शहरी क्षेत्र में केवल 8 सब्जी मंडी को खोलने के लिए अनुमन्य किया गया है। इनमें भोजूबीर, लमही, पहाड़िया, पंचकोशी, चंदूआ सट्टी, सुंदरपुर, रामनगर चौक और नुआंव मंडी होंगी।
ये सब्जी मंडी रात्रि 3:00 बजे से प्रातः 6:00 बजे के बीच ही खुलेंगी ।
ठीक 6:00 बजे इन्हें बंद करा दिया जाएगा ।
इन मंडी में केवल रिटेल दुकानदार या ठेले वाले ही सब्जी खरीद पाएंगे कोई फुटकर कस्टमर इसके अंदर आने के लिए अधिकृत नहीं होगा। पहाड़िया मंडी में ओड इवन व्यवस्था लागू रहेगी तथा इसमे एक दिन में आधी दुकाने ही खुलेंगी।
इन सब्जी मंडी के थोक दुकानदार और ठेले वालों के लिए सड़कों पर सफेद चुने से मार्किंग करवाई जा रही है जिसका पालन ठेले वालों को और होलसेलर सबको करना होगा। मार्किंग आदि की व्यवस्था 2 दिनों में पूरी कराई जाएगी इसलिए ये सब्जी मंडियां 1 मई की प्रातः काल से खुलने शुरू होंगी, 30 अप्रैल को कोई सब्जी मंडी नहीं खुलेगी। कोई मंडी सोशल डिस्टनसिंग का पालन नही करा पाई तो अगले ही दिन से उसे बंद करा दिया जाएगा।
इस बीच करीब 3 दिनों तक वाराणसी के लक्सा क्षेत्र में लोगों को पर्याप्त मात्रा में साग सब्जियां न मिल पाने के चलते बहुत परेशानी हुई।
इन सभी दिक्कतों के बीच आज लक्सा क्षेत्र के लक्ष्मीकुंड इलाके में रहने वाले स्थानीय निवासियों ने राहत की सांस ली जब उन्हें अपनी आवश्यकता अनुसार पर्याप्त मात्रा में सब्जियों की खरीदारी करने का अवसर मिला। इस इलाके में पहले की तरह सब्जियां लेकर सब्जी ठेले वालों ने डोर टू डोर सर्विस दी जिससे लोगों को खाने के जरूरी सामानों को लेकर किसी भी तरह की परेशानी ना हो और इन सब्जी वालों को कोरोनावारियर कहना गलत नहीं होगा जो अपनी जान की परवाह किए बगैर लोगों की सेवा में पहले दिन से कार्यरथ है।
सब्जी ठेले वाले- *भोला* के द्वारा यह जानकारी दी गई की सभी सब्जी वाले दुकानदारों और ठेले वालों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन द्वारा कारगर कदम उठाए जा रहे हैं और यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि आम जनता को सब्जी और खाद्य पदार्थ से संबंधित किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो।
साथ ही साथ सब्जी वालों को कोरोनावारियर से बचने के कारगर उपाय भी बताए गए और उन्हें यह हिदायत दी गई कि वह सब्जी बेचने के दौरान भी सावधानी के साथ अपनी और ग्राहकों की सुरक्षा का ख्याल रखें।
यह जान लेना बेहद आवश्यक है कि वाराणसी में लगातार बढ़ रहे कोरोनावायरस संक्रमण के कारण वाराणसी को रेड ज़ोन में रखा गया है। कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी से हमारी लड़ाई बहुत लंबी है और इस चुनौतीपूर्ण परिस्थिति में हम सभी को एकजुट होकर लड़ना होगा।