Breaking News देश राज्य होम

लखीमपुर खीरी-सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खमरिया/ ईसानगर में मनाया गया प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस

लखीमपुर-खीरी।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खमरिया/ ईसानगर में मनाया गया प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस।

  • (अनुपम मिश्रा, लखीमपुर-खीरी)

ईसानगर/खमरिया।आज दिनाँक 10 अगस्त 2020 दिन सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खमरिया /ईसानगर में कोविड 19 की गाइड लाइन के साथ में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस मनाया गया।इस अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं की जाँच की गई और उनको आवश्यक सेवाएं तथा दवाएं आयरन, कैल्शियम की गोलियां उपलव्ध कराई गई।अधीक्षक डॉ0 बी0 के0 स्नेही ने बताया कि शासन के आदेशों के तहत हर माह की 9 तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सभी गर्भवती महिलाओं की योग्य चिकित्सकों के द्वारा जांच की जाती है।9 अगस्त की तारीख को रविवार होने के कारण ये कार्यक्रम आज किया गया है।

 

 

आज हाई रिस्क प्रेग्नेंसी की भी जांच की गई और उनको उचित जांचे ,इलाज तथा दवाएं मुहैया कराई गई।सभी गर्भवती महिलाओं को बताया जाता है कि वह बहुत खास है।जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को स्क्रीनिंग किया जाता है ताकि उनको समय पर रेफेरल हाई सेंटर पर किया जा सके और जच्चा और बच्चा को सुरक्षित बचाया जा सके।डॉ 0स्नेही ने बताया कि हर गर्भवती महिला को जैसे ही पता चले की वह गर्भवती है तो तत्काल सरकारी हॉस्पिटल में आकर दिखाए और रजिस्ट्रेशन कराएं और समय पर ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट,ब्लड प्रेशर, हेमोग्लोबिन, वजन तथा अल्ट्रासाउंड की जांच अवश्य कराएं ताकि जोखिम भरी स्थिति को पहचाना जा सके और समय सीमा में उपचार किया जा सके।
जोखिम भरी स्थितियों से निपटने के लिए ही हर तिमाही पर अपनी जांचे अवश्य कराएं और अपनी गर्भावस्था में कम से कम 4 जांचे अवश्य कराएं तथा टेटनस के दो इंजेक्शन अवश्य लगवाएं।

 

 

 

डॉ0 स्नेही ने बताया कि किसी भी गर्भवती महिलाओं में निम्न खतरे के लक्षण जैसे तेज बुखार, योनि से श्राव ,त्वचा में पीलापन,तेज सिर दर्द, और धुंधला दिखना,उच्च रक्तचाप, योनि से रक्तस्राव ,दौरे पड़ना, हाथों पांवों ओर चेहरे में सूजन आना,भ्रूण का न हिलना और कम हिलना ,आदि मिलने पर उसे सतर्क हो जाना चाहिए और तत्काल पास के सरकारी अस्पताल में जाकर योग्य चिकित्सक को दिखाना चाहिए और चिकित्सक द्वारा बताई गई बातों पर अमल करना चाहिए।

शासन द्वारा मातृ और बाल मृत्यु दर में कमी लाने के लिए भरसक प्रयास किये जा रहे हैं। ऐसी स्थितियों से निपटने के लिये 102 और 108 एम्बुलेंस सेवा का निःशुल्क प्रयोग करना चाहिए।उन्होंने बताया कि अपने ब्लॉक के ईसानगर और खमरिया में क्रमशः डॉ0 विनीता सिंह और डॉ0 हसमत आरा महिला आयुष चिकित्सक संविदा तैनात है और जो नियमित सेवाएं मुहैया कराती हैं।
आज के ही दिन सीवियर एनीमिया की महिलाओं को आयरन सुक्रोज के इंजेक्शन भी लगाए गए ।