Breaking News देश राज्य होम

लखीमपुर खीरी-पत्रकार को मारकर हाथ पैर तोड़ने की मिली धमकी

पत्रकार को मारकर हाथ पैर तोड़ने की मिली धमकी

जसवन्त कुमार वर्मा के साथ सुरेंद्र सिंह
रिपोर्टर
ब्लॉक बांकेगंज

लखीमपुर खीरी के सुआबोझ ग्राम सभा सुरजनपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत सर्वे करने आए सर्वेयर ने सीताराम पुत्र राजकरण के दुकान पर बैठकर सर्वे कर रहे थे तभी वहां पत्रकार पहुंचे तथा वीडियो बनाने लगे तो सीताराम ने पत्रकार का मोबाइल छीनना चाहा और पत्रकार को वहां से भगा दिया शाम को जब पत्रकार उसके दुकान से गुजर रहा था तो पत्रकार को सीताराम के बेटो ने जिनका नाम रमेश, रविंद्र है रोका और कहा आज के बाद अगर इधर दिखाई दिए तो मार के हाथ पैर तोड़ देंगे सॉरी पत्रकारिता भूल जाओगे शाम को ही पत्रकार ने एस ओ मैलानी को फोन किया और अपनी सारी बातें एस ओ मैलानी को बताई तो एस ओ मैलानी ने कहा कि सुबह थाने पर आए यही बात होगी जब पत्रकार सुबह को अपनी शिकायत लिखित में देने गया तो एस ओ विद्या शंकर शुक्ला मैलानी ने बताया कि सीताराम भी 2 महिलाओं को लेकर आए थे और दो लोगों के खिलाफ एप्लीकेशन देकर गए हैं और एस ओ वहीं एस ओ ने पत्रकारों के गुमराह कर रहे है 24 घंटे बीत जाने पर भी कोई जांच नहीं की गई और जब आज दिनांक 15 सितंबर 2020 को जब पत्रकार थाने गये तो वहां पर एसआई भूपेंद्र सिंह मिले उन्होंने भी कोई आश्वासन नहीं दिया सीओ गोला से भी पत्रकारो ने बात की तो सी ओ गोला बोले में 4 दिन से क्वॉरेंटाइन हूं और मैं मैलानी थाने से बात करेंगे जबकि पत्रकारों को दंबगो के द्वारा दी जा रही है धमकी, एक पत्रकार को जब न्याय नहीं मिल पा रहा है तो आम जनता को क्या न्याय मिल पाएगा यह हाल है योगी पुलिस का जो पूरी तरह बेलगाम हो चुकी जो पत्रकारों ही कबरेज पर जाने पर ही दिला रही धमकी की कहीं पत्रकार मिल जाऐ तो उनके हाथ पैर तोड़ दो वहीं पत्रकारों के सम्मान करने व अच्छा बर्ताव करने की नसीहत दे रहे है पर मैलानी पुलिस की आखों मे ही खटकते है ऐसे मे कैसे होगा पत्रकारों के साथ न्याय पूरे जनपद मे ऐसा ही बरताव हो रहा है इसलिए पत्रकारों ने अपने सुरक्षा व फर्जी मुकदमों मे पुलिस के द्वारा फसाया जा रहा है कैसे होगा संविधान के चौथे स्थम्भ की सुरक्षा कौन करेगा कैसे होगा पत्रकारों का संमान बहुत बडा सवाल है ।

दरोगा बैठा रहा पत्रकार अपनी बात कहते रहे भूपेन्द्र सिंह si अपनी धुन मे मस्त है और बता रहा स्टाफ नही है और प्रधान के पास उठते बैठते है सीता राम व अन्य को बुलाया बताया वो घर नही और पत्रकारों को एक घंटा बैठाने के बाद कहा की एसो ही आयेगे तब देखेगे।