Breaking News देश राजनीती राज्य होम

लखनऊ – विश्व हिंदू महासभा अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या, हमलावर सीसीटीवी में कैद

विश्व हिंदू महासभा अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या, हमलावर सीसीटीवी में कैद

बुधवार, फरवरी 26 2020
प्रभंजन कुमार तिवारी, प्रधान संपादक

लखनऊ (ब्यूरो)। हजरतगंज इलाके में बेखौफ हमलावर ने विश्व हिंदू महासभा के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रणजीत बच्चन उर्फ रणजीत श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या कर दी। वे मौसेरे भाई आदित्य और पत्नी कालिंदी के साथ मॉर्निग वॉक पर निकले थे। फायरिंग में आदित्य गोली लगने से घायल हो गया। इसके बाद हमलावर उन दोनों का मोबाइल लूटकर पैदल ही मौके से फरार हो गया। जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने घायल आदित्य को इलाज के लिये ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। पुलिस ने उसकी तहरीर पर अज्ञात हमलावर के खिलाफ केस दर्ज कर विभिन्न एंगल पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए हमलावर की फोटो जारी करते हुए उसकी सूचना देने वाले को 50 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।
डेली जाते थे मॉर्निग वॉक पर
गोरखपुर अहिरौली अरहरनगर निवासी रणजीत बच्चन उर्फ रणजीत श्रीवास्तव वर्ष 2013 से हुसैनगंज स्थित ओसीआर विधायक निवास में फ्लैट संख्या बी-604 में पत्नी कालिंदी श्रीवास्तव के साथ रहते थे। पूर्व सपा नेता रणजीत ने वर्ष 2019 में विश्व हिंदू महासभा का गठन किया और खुद को उसका अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित कर दिया था। परिजनों के मुताबिक, रणजीत रोज की तरह रविवार सुबह 5.30 बजे मॉर्निग वॉक पर निकले थे। इसी दौरान जब वे लोग हजरतगंज चौराहा होते हुए सुभाष चौक क्रॉस कर ग्लोब पार्क पहुंचे तभी पीछे एक हमलावर पैदल ही आ पहुंचा। रणजीत और आदित्य साथ थे जबकि, कालिंदी पीछे छूट गई थीं। हमलावर ने शॉल ओढ़ रखी थी। उसने वहां पहुंचते ही रणजीत व आदित्य पर रिवॉल्वर तान दी।
मोबाइल छीनने के बाद मारी गोली
अचानक रिवॉल्वर तान देने से रणजीत व आदित्य अवाक रह गए। इसके बाद हमलावर ने उन दोनों से मोबाइल फोन देने को कहा। दहशत में आए दोनों ने अपने मोबाइल फोन उसके सामने कर दिये। हमलावर ने दोनों के मोबाइल फोन छीन लिये और बिना कोई बात किये ही ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इसमें एक गोली रणजीत की नाक में लगी और सिर में जाकर धंस गई। एक अन्य गोली आदित्य की बायीं कलाई पर लगी। गोली लगते ही रणजीत वहीं पर धराशायी हो गए जबकि, आदित्य बदहवासी में वहां से कैसरबाग टेलीफोन एक्सचेंज की ओर भाग निकला। इसी बीच हमलावर भी वहां से फरार हो गया।
राहगीर से मोबाइल लेकर दी सूचना
स्वास्थ्य भवन चौराहा तक दौड़ लगाने के बाद आदित्य रुक गया। पीछे हमलावर को नदारद देख उसने वहां मौजूद राहगीरों को घटना के बारे में बताया और एक राहगीर का मोबाइल फोन से 112 पर कॉल कर घटना की सूचना दी। जानकारी मिलने पर पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय, ज्वाइंट कमिश्नर क्राइम नवीन अरोरा, डीसीपी दिनेश सिंह, एडीसीपी क्राइम दिनेश कुमार पुरी समेत तमाम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। घायल आदित्य को आनन-फानन इलाज के लिये ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। जहां डॉक्टर्स ने प्राथमिक उपचार के बाद आदित्य को छुट्टी दे दी। जिसके बाद पुलिस ने आदित्य की तहरीर पर अज्ञात हमलावर के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
हमलावर सीसीटीवी में कैद
हत्याकांड के बाद जांच में जुटी पुलिस टीमों ने ओसीआर बिल्डिंग से परिवर्तन चौक तक लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। जिसमें एक जगह हमलावर का चेहरा साफ कैद हुआ। पुलिस ने हमलावर की फोटो जारी करते हुए उसकी सूचना देने वाले को 50 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।
रंणजीत से परिवर्तन चौक के आगे जाते समय पीछे से आए शॉल ओढ़े व्यक्ति ने रोका। हमलावर ने दोनों के मोबाइल फोन लूट लिए। विरोध करने पर हमलावर ने फायरिंग कर दी। जिसमें रणजीत की मौत हो गई जबकि मौसेरा भाई घायल हो गया। हत्यारे की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच के साथ पुलिस की आठ टीम लगाई गई हैं। सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध हमलावर की तस्वीर सामने आई है। पति पत्नी के बीच चल रहे विवाद के बिंदु पर भी पुलिस काम कर रही है।
– नवीन अरोरा, ज्वाइंट कमिश्नर, लखनऊ