Breaking News देश राजनीती राज्य होम

रायबरेली – स्वास्थ्य विभाग की आर० बी० एस० के० टीम द्वारा लड़खड़ाती धड़कनों को दिया जा रहा हैं जीवन का सहारा

रायबरेली

स्वास्थ्य विभाग की आर० बी० एस० के० टीम द्वारा
लड़खड़ाती धड़कनों को दिया जा रहा हैं जीवन का सहारा

रिपोर्ट – अनिल कुमार
इंडिया नाऊ 24
रायबरेली

रायबरेली ।। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की अमावां की टीम डॉक्टर राखी, डॉ फिरदौस, डॉ सुनील एवं डॉ सफीर द्वारा नेतृत्व की जा रही टीम है । प्रज्ञा 5 साल के बच्चे के अंदर जन्मजात हृदय रोग का स्वास्थ्य परीक्षण कर पता लगाया। प्रज्ञा पुत्री गौरव चौधारी ग्राम गोहन्ना की निवासी है| बच्ची को जन्म के समय से ही दिल में छेद की समस्या थी। परिवार पूरी तरह हताश और निराश हो चुका था| साथ ही दिल के ऑपरेशन का भारी खर्च वहन करने में असमर्थ था | इस बच्ची को राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम द्वारा देखा गया और सरकार की निशुल्क ऑपरेशन की सुविधा के बारे में जानकारी दी गई| बच्ची को सी० एच० सी० से जिला अस्पताल रायबरेली स्टाफ नर्स पूनम, सुरभि तथा फार्मासिस्ट इज़हार ओप्तोमेत्रिस्ट राजेश द्वारा लाकर डॉ सलीम से दिल के आपरेशन हेतु अलीगढ रेफेर किया गया| मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजय कुमार शर्मा एवं अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नागेंद्र प्रसाद द्वारा बच्ची प्रज्ञा को अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज भेजकर निशुल्क हृदय की शल्य चिकित्सा (वेंट्रिकुलर सेप्टल दोष (वीएसडी)) का ऑपरेशन दिनांक 6 फरवरी 2020 को पूर्ण कराया गया| जिसमें जनपद स्तर पर नितेश जायसवाल डी. ई. आई. सी. मैनेजर रायबरेली तथा मुनाजिर हुसैन डी.ई.आई.सी. मैनेजर अलीगढ़ के आपसी सामंजस्य से अति शीघ्र ऑपरेशन कराया जा सका। आज डॉ. नागेन्द्र प्रसाद अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया गया| राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम वर्ष में एक बार समस्त सरकारी स्कूलों में तथा वर्ष में दो बार आंगनबाड़ी केंद्रों पर समस्त बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करती है कथा कार्यक्रम में दिए गए 40 बीमारियों पर आवश्यकतानुसार बच्चों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जिला अस्पताल तथा मेडिकल कॉलेज रिफर कर बच्चों का निशुल्क उपचार कराती है।