Breaking News देश राज्य होम

रायबरेली – सेना के शौर्य, साहस व शहादत को नमन, 18 नवम्बर 1962 को कुमाऊँ रेजीमेन्ट के (अहीर दस्ते) ने मोर्चा सम्भाला

रायबरेली – सेना के शौर्य, साहस व शहादत को नमन, 18 नवम्बर 1962 को कुमाऊँ रेजीमेन्ट के (अहीर दस्ते) ने मोर्चा सम्भाला

22 नवम्बर 1962 को मानद कैप्टन रामचंद्र यादव ने युद्ध की पूरी कहानी बतायी

– दस्ते का नेतृत्व मेजर शैतान सिंह न किया मरणोपरान्त परमवीरचक्र मिला

– 120 सैनिकों ने 1500 चीन सैनिकों को मार गिराया रेजांगला में तिरंगा फहराया

अनिल कुमार – इंडिया नाऊ 24, रायबरेली

रायबरेली ।। 22 नवम्बर, 2020 जनपद के प्रबुद्ध नागरिकों की ओर से 1962 के भारत-चीन युद्ध में रेजांगला कुमाऊँ रेजीमेन्ट के 13 कुमाऊँ दस्ते (अहीर टुकड़ी) के अन्तिम मोर्चे में शहीद हुए सैनिकों की स्मृति में शहीद चैक रायबरेली में पुष्प चक्र अर्पित कर शहीदों को नमन किया गया। इस अवसर पर सेन्ट्रल बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष ओ.पी. यादव ने सेना के शौर्य, साहस व शहादत को नमन करते हुए कहा कि 18 नवम्बर 1962 को 120 सैनिकों ने 1500 चीनी सैनिकों को मार गिराया था और रेजांगला में तिरंगा फहराया था। समाजवादी पार्टी व्यापार सभा के जिलाध्यक्ष मुकेश रस्तोगी ने कहा कि अहीर दस्ते टुकड़ी का नेतृत्व मेजर शैतान सिंह कर रहे थे। इस वीरता क लिए हरियाणा के रेवाड़ी गांव में एक स्मारक बनाया गया है, जहाँ से इस दस्ते के अधिकांश सिपाही थे। समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राम बहादुर यादव ने कहा कि देश के मुट्ठी भर भारतीय सैनिकों ने दुश्मनों को सिर्फ शर्मनाक हार ही नहीं दी बल्कि उनके नापाक मंसूबों को भी खाक में मिलाया। जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि राम सेवक वर्मा ने कहा कि कुमाऊँ रेजीमेन्ट (अहीर दस्ते) के 120 सैनिकों में से 114 सैनिक मातृभूमि की रक्षा के प्रति खुद को कुर्बान कर दिया, 6 जिन्दा बचे थे, जिन्हें युद्ध बन्दी बनाया गया था, लेकिन अपनी कुशलता से बच निकले मानद कैप्टन रामचन्द्र यादव ने 22 नवम्बर को वीरगाथा जम्मू के हास्पिटल में सुनायी। मेजर शैतान सिंह को मरणोपरान्त परमवीरचक्र से सम्मानित किया गया। बाद में सैन्य टुकड़ी को पांच वीर चक्र और चार सेना पदक से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से विनोद यादव, मो0 हलीम, पारूल बाजपेयी, जय कोहली, बृजेन्द्र यादव ‘राजू’, जयसिंह यादव, गिरजेश बबलू द्विवेदी, शशि यादव, मो0 सुल्तान, सत्येन्द्र कुमार, सुशील मौर्या कोड़रस, राहुल निर्मल बागी, मो0 साहिल, राजेन्द्र प्रताप यादव, सुरेश चन्द्र पटेल, गोलू गौतम, रिषभ सेन, सुरजीत यादव, मनोज यादव, विवेक शर्मा, जयहिन्द पाल, सचिन श्रीवास्तव, मो0 शाकिब कुरैशी, मो0 उजैर अली, धर्मेन्द्र दरियाबादी, राजेश मनमीत मौर्या आदि लोग उपस्थित रहे।