Breaking News देश राजनीती राज्य होम

रायबरेली – सरकार द्वारा प्रदत्त कराई जा रही है स्वास्थ्य सुविधाओं को लाभान्वित कराये जाने में आशा एक महत्वपूर्ण कड़ी है : एमएलसी

रायबरेली

सरकार द्वारा प्रदत्त कराई जा रही है स्वास्थ्य सुविधाओं को लाभान्वित कराये जाने में आशा एक महत्वपूर्ण कड़ी है : एमएलसी

स्वास्थ्य शिक्षा मनुष्य की मुख्य बुनियादी सुविधायें
पूरी तरह से रहे दुरस्त

रिपोर्ट – अनिल कुमार
इंडिया नाऊ 24
रायबरेली

रायबरेली 13 फरवरी, 2020
फिरोजगांधी डिग्रा कालेज के आडिटोरियम में आयोजित आशा दिवस/सम्मेलन
का उद्घाटन एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह व मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 संजय कुमार शर्मा द्वारा दीप प्रज्जवलित व फीता काटकर कर किया। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने कहा कि दूर
दराज क्षेत्रों में जन-जन तक स्वास्थ्य विभाग के कल्याणकारी योजनाओं, कार्यो को पहुंचाने तथा सरकार द्वारा प्रदत्त कराई जा रही सुविधाओं को लाभाविन्त कराने में आशा एक महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने आशाओं से कहा राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अर्न्तगत सम्मिलित स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सम्बन्धी कार्यक्रमों का लाभ ग्रामीण जनता तक पहुंचे तथा वे पूर्ण तरीके से स्वस्थ्य रहे यह जिम्मेदारी बखूबी निभायें। उन्होंने कहा कि आशाओं को आशा सम्मेलन
में दी जा रही स्वास्थ्य विभाग के कार्यक्रमों, उत्तर प्रदेश सबका साथ, सबका विकास,
सबका विश्वास विकास एवं सुशासन के 30 माह, आइये ये जाने स्वास्थ्य विभाग के कार्यक्रम की जानकारी संबंधी पम्पलेट, पुस्तक आदि दिये जा रहे लाभ परख प्रचार सामग्री को भली-भांति अध्ययन कर इसकी जानकारी ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनता को बतायें।उन्होंने कहा कि आशा बहनें गॉव के प्रत्येक परिवार से परिचित होती है। जिससे वह
स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी आसानी से पहुंचा सकती है। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने कहा कि जब ग्रामीण क्षेत्र एवं जनता स्वास्थ्य विभाग सहित सरकार के अन्य कार्यक्रमों को भली-भांति जानेगी तथा उसका लाभ देकर समाज स्वस्थ्य और समृद्व होगा तभी जनपद
स्वस्थ्य व उन्नतिशील होगा। स्वास्थ्य शिक्षा मनुष्य की मुख्य बुनियादी सुविधायें पूरी
तरह से दुरस्त रहने से जीवन आनन्दमय हो जाता है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 संजय कुमार शर्मा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की महिला को जननी सुरक्षा योजना के अर्न्तगत रू0 1400 एवं शहरी क्षेत्र की महिला को रू0 1000
की धनराशि आरटीजेएस के माध्यम से प्रदान की जाती है। ग्रामीण क्षेत्र की गर्भवती
महिला जो दूरस्थ क्षेत्र में उन तक आशा बहनों की सेवायें निर्वाध गति से पहुंचती रहे। उन्होंने कहा कि आशा के दायित्व आठ है जिनको प्रशिक्षण में हमेशा बताया जाता है जिसको वह भली भांति जाने।

*स्वास्थ्य शिक्षा मनुष्य की मुख्य बुनियादी सुविधायें पूरी तरह से रहे दुरस्त*

जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने अपने संदेश में कहा है कि राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अर्न्तगत संचालित स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सम्बन्धी कार्यक्रमों का
लाभ ग्रामीण जनता तक पहुंचे तथा वे स्वस्थ्य रहें यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सरकार
ने आशा बहनों को भी प्रदान की है, अतः वे स्वास्थ्य विभाग के नित-नित कार्यक्रमों आदि से अपने को अद्यतन रखें तथा आने वाली चुनौतियों का समाना
करतें हुए सौपें गये दायित्वों को बेेहतर तरीके से निभायें। जनपद में संस्थागत प्रसव, नियमित टीकाकरण, परिवार कल्याण एवं अन्य स्वास्थ्य कार्यक्रमों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। जिसके फल स्वरूप जनपद में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी
आई है। जिसका श्रय मुख्य रूप से आशाओं को जाता है। मिशन की समस्त योजनाओं को सामान्य जन समुदाय तथा वंचित वर्गो तक पहुचाकर उसका लाभ दिलाये। कठिन परिश्रम
निरन्तर प्रयास से ग्राम समुदाय को स्वास्थ्य सम्बंधी आसानी से उपलब्ध हो रही है। आशाए एक पुनीत सामाजिक कार्य से जुड़ी हुई है। याद रहे कि जनपद हमारे सामुदाय के सभी सदस्य स्वस्थ होंगे तभी हम स्वस्थ जनपद की संकल्पना को साकार कर सकेंगे। इस
मौके पर कई आशाओं को उत्कृष्ठ कार्य के लिए सम्मानित भी किया गया। सभी आशाओं व उपस्थित जनों ने उ0प्र0 सूचना विभाग द्वारा प्रकाशित की गई विकास एवं सुशासन के 30 माह पुस्तक सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, उ0प्र0 संदेश, पंचाग, कलेण्डर आदि वितरित किये गये। कार्यक्रम का संचालन एस0एस0 पाण्डेय द्वारा बाखूबी से किया गया। आशा बहनों ने स्वागत गीत सहित कई प्रेरक गीत की प्रस्तुति की गई।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, अपर सीएमओ डा0 एम नारायण, डा0 कृष्णा सोनकर, डा0 के0 आर0 रिजवान, एडी सूचना प्रमोद कुमार, डा0 ए0 के0 चौधरी, डा0 डीएस अस्थाना, अग्रिमा आरती, अंजली सिंह, भुप्रेन्द सिंह, डा0 जे सिंह, डा0 पी0के0 चौधरी, डा0 अरूण कुमार, मंच संचालक एसएस पांडे आदि बड़ी संख्या में चिकित्सक व आशा बहने उपस्थित थी।