Breaking News देश राजनीती राज्य होम

रायबरेली-जिले में अवैध रूप से एवं बिना पंजीकरण के चल रहे नर्सिंग होम के ऊपर जिलाधिकारी के निर्देश पर ताबड़तोड़ छापेमारी

रायबरेली

जिले में अवैध रूप से एवं बिना पंजीकरण के चल रहे नर्सिंग होम के ऊपर जिलाधिकारी के निर्देश पर ताबड़तोड़ छापेमारी

रिपोर्ट – अनिल कुमार
इंडिया नाई 24
रायबरेली

रायबरेली ।। जनपद भर में अवैध नर्सिंग होम व झोलाछाप डॉक्टरों के फैले मकड़जाल पर जिला प्रशासन ने सख्त रवैया अपनाते हुए जनपद भर में अभियान चलाते हुए शहर क्षेत्र के  नर्सिंग होम पर छापेमारी करते हुए दो नर्सिंग होमों को नोटिस वही एक फर्जी झोलाछाप क्लीनिक पर मुकदमा दर्ज किया है। जिले के महराजगंज क्षेत्र में डीआर सर्जिकल हॉस्पिटल में एक युवक की मौत के बाद जिलाधिकारी ने मामले गंभीरता से लेते हुए यह अभियान चलाया है।

आपको बता दे कि जनपद भर में फर्जी नर्सिगहोम व झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार है। और स्वास्थ्य विभाग के सिस्टम के चलते। यह नर्सिगहोम अपनी नर्सिगहोम को चमकाते चले आ रहे हैं। जबकि शहर क्षेत्र के राजघाट स्थित कई सालों से प्रशासन की नाक के नीचे झोला छाप क्लीनिक में एक  महिला अपने अवैध कार्यो से चर्चा का विषय बने रहने के बाद भी आज तक स्वास्थ्य विभाग ने उस पर कार्यवाही करना उचित नही समझा, वही सालो पूर्व मुकदमा दर्ज के बाद संचालिका जेल की हवा भी खा चुकी है। वही शहर क्षेत्र में सैकड़ो नर्सिगहोम मानक पर खरे नही है फिर सिस्टम के चलते खुलेआम चलते है ग्रामीण जनता इनके चंगुल में फंसकर लाखों गवां कर अपने मरीज की भी जान गवां देते है। नोटिस भेजे गये अवध नर्सिगहोम पूर्व में राधकृष्णा नर्सिगहोम से संचालन पर एक मरीज के प्राइवेट पार्ट में सड़न के बाद उसे बन्द करवाया गया लेकिन अब वही पत्रकारिता दिखाकर उसकी आड़ में डॉक्टर अवध नर्सिगहोम का संचालन कर रहे है। इस तरह से शहर में सैकड़ों नर्सिंग होम मानक पर खरे न उतरने के बावजूद भी अपना संचालन कर रहे हैं। गांव क्षेत्र में तो इनकी गिनती भी नहीं की जा सकती।

*एक्शन मोड में जिलाधिकारी सुभ्रा सक्सेना*

वही जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना के निर्देश पर नगर मजिस्ट्रेट युगराज सिंह, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 रिजवान तथा फायर विभाग की टीम के साथ जनपद स्थित गुरूप्रसाद मेमोरियल नर्सिंग होम, अवध नर्सिंग होम का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान झोलाछाप क्लीनिक की संचालिका शकुन्तला के यहां भी जांच टीम पहुचने जानकारी मिलने पर झोलाछाप क्लीनिक संचालिका क्लीनिक में ताला लगाकर फरार हो गई। वही जमीन पर बैठें मरीजो से साहब पूंछतांछ करते नजर आए तभी संचालिका के लड़के को बुलवाकर ताला खुलवाये जाने पर जांचोपरान्त पाया गया कि क्लीनिक का संचालन अवैध रूप से चलाया जा रहा है। जिसके विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्यवाही की गई। गुरूप्रसाद मेमोरियल नर्सिंग होम व अवध हास्पिटल में की गई जांच में जो कमियां पाई गई उसकी नोटिस जारी की गई। शकुन्तला के लड़के द्वारा संचालित मेडिकल स्टोर में पाई गई अनियमित्ता के सम्बन्ध में नोटिस देते हुए लाईसेंस निरस्तीकरण की कार्यवाही की जा रही है।  जनपद में सैकड़ों फर्जी नर्सिंग होमों की भरमार है और आए दिन एक न एक मरीज इनमें शिकार होकर अपनी जान गंवा बैठता है। हाल ही में महाराजगंज क्षेत्र में एक नर्सिंग होम की लापरवाही से एक युवक की जान जा चुकी है। वही पीड़ित परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया वही डॉक्टर फरार बताया जा रहा है।

वही जब इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना से बात की गई तो उन्होंने साफ तौर पर बताया कि झोलाछाप डॉक्टरों और अवैध नर्सिंग होम ऊपर नियंत्रण अभियान चलाकर कार्यवाही होती रहेगी और तहसील क्षेत्रों में भी एक टीम बनाकर अभियान चलाया जाएगा और इनमें जो भी मानक के अनुरूप पाए जाएंगे उन पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।