Breaking News देश बिज़नेस राजनीती राज्य होम

बेला और छिजवार की शराब दुकान से चल रही अवैध पैकारियां

रीवा से बडी़ खबर…..✍🏻
बेला और छिजवार की शराब दुकान से चल रही अवैध पैकारियां

आबकारी विभाग बना है,अनजान तथा क्षेत्रीय पुलिस प्रशासन है, मौन…..
लगातार खबरों के प्रकाशन के बाद भी नहीं है,कोई असर प्रशासनिक अधिकारी अनजान बने हुए चुप्पी साधे हैं
संभागीय मुख्यालय से लगे बेला मे अंग्रेजी दारु की दुकान मे वही बैठ कर पीने की व्यवस्था देकर अहाता चलाया जा रहा है, जिसे देखते हुए आबकारी विभाग अंनजान बना हुआ है, वही छिजवार जो सतना जिले से लगा रीवा जिले का गांव है, वहां की दुकान से दर्जनो पैकारियां चलाई जा रही है, दारु की दुकान से मोटरसाइकिल में स्थानीय बेरोजगार युवक दारू ले जाकर गांव-गांव बेच रहे हैं। छिजवार की दारु सोनरा नरौरा,कटिगा,तुर्की तिवनी,सगौनी,गढ़वा,नौबस्ता सुमेदा,अतरौली,बंनकुइया,दादर,मरहा,कचूर आदि गांवो में बिकवाइ जा रही है,इसी तरह बेला अंग्रेजी शराब की दुकान से केमार,पगरा,रूहिया,खुटहा,हिनौती,कोठार,बडहरी,पैपखरा,झिन्ना,ककलपुर आदि गांवो में अवैध रुप सें दारु बिकवाइ जा रही है, इतना ही नहीं दोनों दुकानों के पास स्कूले भी संचालित है जहां से हजारों नौनिहाल छात्र-छात्राएं आते जाते हैं,जो अपने को कभी भी सुरक्षित महसूस नहीं करते आरके पेट्रोलियम वाले ने शराब दुकान किराए पर देकर उसे अहाता संचालित करने का स्थान ही नहीं दिया बल्कि भारी भरकम राशि किराएं के नाम पर लेकर उसे संरक्षक प्रधान कर रहा है,सड़क से 2सौ मीटर की दूरी पर मकान बनाने का एक मात्र उद्देश्य शराब की दुकान खुलवाना स्पष्ट समझ आ रहा है,दारु दुकान की अनुबंधो में अहाता संचालित करना शामिल नहीं है,शासन को उसके लिए अनुमति देकर अपने राजस्व में वृद्धि करने का नियम है, आबकारी एक्ट के तहत अहाता चलाने के लिए विधिवत स्वीकृत उसी तरह लेना अनिवार्य है, जिस तरह शराब बेचने के लिए लेकिन इस तरह विधि विरुद्ध चल रहे शराब दुकान के बगल मे अहाते के विरुद्ध आबकारी विभाग के अधिकारियों ने कुछ भी कार्यवाही नहीं किया बल्कि उन्हें सरंक्षण प्रदान कर रहे आबकारी एक्ट में यह भी शामिल किया गया है,कि कोई भी शराब दुकानदार मुख्य सड़क पर शराब दुकान होने का साइन बोर्ड नहीं लगाएगा किंतु उसका ही खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है,सड़क किनारे बड़े-बड़े साइन बोर्ड शराब दुकान के लगे हैं,स्थानीय जनप्रतिनिधियों अशोक मिश्रा,अखिलेश दुबेदी,अमर सिंह,रामनाथ वर्मा,दीपक सिहं तिवारी,अनूप कुमार द्विवेदी इत्यादि तमाम लोगों ने आयुक्त आबकारी से इस तरह चल रहे शराब के अवैध कारोबार पर रोक लगाने की दिशा में दंडात्मक कार्यवाही की मागं की है,उन लोगों ने कहा कि प्रजातंत्र में जनता की सेवा करने का चोला पहन के कुछ लोग राजनीति का नाजायज लाभ लेकर इस तरह से अवैध कारोबार करते हैं, और प्रशासनिक अधिकारी डर के मारे कोई कार्यवाही नहीं करते,वही छिजवार शराब के ठेकेदार जहां भाजपा की छत्रछाया में अवैध कारोबार कर अरबो रुपए कमाए है,वह अब विधानसभा चुनाव त्यौथर क्षेत्र से बसपा की टिकट हथियां कर लड़ने जा रहे,यह अब किसी से छिपा नहीं है।

रिपोटर-गीतेश साहू ऊँचेहरा India now 24