Breaking News देश राज्य होम

बीएमएस के आह्वान पर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ नियमों का पालन करते हुए रोष व्यक्त

बीएमएस के आह्वान पर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ नियमों का पालन करते हुए रोष व्यक्त
रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24
गुरूग्राम । भारतीय मजदूर संघ के बैनर तले संघ से जुडे सभी संगठनों ने बीएमएस के आह्वान पर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ नियमों का पालन करते हुए रोष व्यक्त किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसमें सफाई कर्मचारी, हूडा कर्मचारी संघ, बिजली विभाग, ऑटो चालक, टयूबवेल, ऑपरेटर, निगम के कर्मचारी, रोडवेज, स्वास्थ्य विभाग, ऑऊटसोर्स के कर्मचारियों ने सरकार द्वारा किये गए श्रम कानूनों में बदलाव का विरोध किया।
इस अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश मंत्री वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि सरकार श्रम कानूनों को खत्म कर मजदूरों और कर्मचारियों पर हिटलरशाही राज थोपना चाहती है। जिसमें किसी को बोलना या अपना हक मांगने का अधिकार न रहे और सरकार मनमाने ढंग के सभी का शोषण कर सके। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी जो दिन रात कोरोना की लडाई लड रहे हैं। सरकार उन्हीं की शुद्ध नहीं ले रही है और न ही सातवां पेय कमिशन नहीं दिया, न ही ऑऊटसोर्स में ठेकेदारी अभी तक खत्म हुई है। सरकार कांट्रेक्ट के डाक्टरों से भी आधी सेलरी दी गई। उन्होंने कहा कि वह सरकार को चेता देना चाहते हैं कि भारतीय मजदूर संघ इस तरह की मनमानी और कर्मचारियों पर अत्याचार करने की मंशा से बनाई गई गलत नीतियों को कभी बर्दास्त नहीं करेगा और सरकार समय रहते कर्मचारियों की बातों पर गौर करें और इन तुगलकी फरमानों को रद्द करें। वर्ना भारतीय मजदूर संघ को बडे आंदोलन के लिए बाध्य होना होगा।
उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा हूडा विभाग और नगर निगम विभाग में दूसरे सभी सरकारी विभागों में लगे आऊटसोर्स के कर्मचारियों पर कैची चला रही है। उनका रोजगार छीन रही है। भारतीय मजदूर संघ पूरे देश भर में श्रमिकों के खिलाफ बनाई राज्य सरकार की नीतियों का पूरजोर विरोध करता है और मांग करता है कि प्रवासी मजदूरों का एक राष्ट्रीय रजिस्टर बनाए ताकि भविष्य में भी कोई संकट आता है तो इस तरह की समस्याओं से जुझना न पडें। उन सभी प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराना सरकार की जवाब देही है। साथ ही अब तक जिन कर्मचारियों और मजदूर साथियों को तनख्वाह नहीं मिली है और जिनके सामने रोजगार का संकट खडा हो गया है उन सभी को पुर्नजीवित करने का दायित्व सरकार का है और केंद्र सरकार ने राज्य सरकार ने जल्द ही भारतीय मजदूर संघ की मांग को मानते हुए श्रमिक विरोधी नीतियों को समाप्त नहीं किया तो भारतीय मजदूर संघ हर प्रकार की लडाई लडने के लिए तैयार है।
इस अवसर पर जिला कार्यकारी अध्यक्ष भीमराव, जिला मंत्री योगेश शर्मा, हुडा कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष कराडिय़ा, महामंत्री सुरेन्द्र सैनी, जिला अध्यक्ष संजीव यादव, हरियाणा औटॉ चालक संघ से जय भारत, रोडवेज यूनियन से समय सिंह, डिगानियां कम्पनी से रवि, शिक्षा विभाग यूनियन से देवेंद्र, संजय कुमार आदि शामिल हुए।