Breaking News देश राज्य होम

बलरामपुर कलेक्टर ने जनचैपाल में सुनी आमजनों की समस्याएं नौनिहालो को स्वस्थ एवं सुपोषित जीवन प्रदान करना हमारा नैतिक दायित्व -कलेक्टर

कलेक्टर ने जनचैपाल में सुनी आमजनों की समस्याएं,नौनिहालो को स्वस्थ एवं सुपोषित जीवन प्रदान करना हमारा नैतिक दायित्व -कलेक्टर
बलरामपुर 25 नवम्बर 2020/ विकासखण्ड बलरामपुर के ग्राम पंचायत बरदर में अनुविभागीय स्तर पर जनचैपाल आयोजित कर शासकीय योजनाओं की जानकारी तथा विभिन्न विभागों द्वारा आमजनों की समस्याओं का निराकरण किया गया। कलेक्टर श्री श्याम धावड़े तथा पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने जनचैपाल में शामिल होकर शासन की योजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए  आमजनों से संवाद कर उनकी समस्याएं सुनी। इस अवसर पर कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक तथा जनप्रतिनिधियों द्वारा 6 बच्चों को खीर खिलाकर अन्नप्रासन किया गया। साथ ही महिला बाल विकास विभाग द्वारा 5 गर्भवती महिलाओं की गोदभराई तथा कुपोषित बच्चों को अंडा खिलाया गया। जनचैपाल में विभिन्न विभागों द्वारा स्टाॅल लगाकर नागरिकों की समस्याएं सुनी गयी तथा यथासंभव तत्काल निराकरण किया गया। जिन आवेदनों में तत्काल निराकरण संभव नहीं था उनमें समय-सीमा निर्धारित कर निराकरण के लिए आश्वस्त किया गया। ज्ञात है कोविड 19 से उत्पन्न परिस्थिति में शासकीय कार्य प्रभावित हुए थे किंतु कलेक्टर श्री श्याम धावड़े की पहल पर जनचैपाल आयोजित कर आमजनों की समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। जनचैपाल में राजस्व विभाग को 22 आवेदन प्राप्त हुए जिसमें प्रमुख रूप से नामंतरण-बंटवारा तथा ऋण पुस्तिका से संबंधित प्रकरण थे। स्वास्थ्य विभाग के स्टाॅल में डाॅक्टरों ने 46 व्यक्तियों की जांच कर निःशुल्क दवाईयां तथा सलाह दी। साथ ही 9 व्यक्तियों का कोरोना एण्टीजन टेस्ट भी किया गया जिसमें सभी नेगेटिव पाये गये।

कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने जनचैपाल में उपस्थित आमजनों  को संबोधित करते हुए कहा कि शिविर के माध्यम से प्रशासन आपके द्वार में उपस्थित हुआ है जो भी स्थानीय समस्याएं है जिनका प्रशासनिक स्तर पर निराकरण किया जा सकता है आप इसके लिए आवेदन करें। उन्होंने कहा कि बलरामपुर अनुविभाग बनने के बाद यह पहला ग्राम पंचायत है जहां जनचैपाल आयोजित किया गया है। कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारियों जनचैपाल में प्राप्त आवेदनों का प्राथमिकता के साथ निराकरण कर शासन की योजनाओं से लाभान्वित करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने उपस्थित जनप्रतिनिधियों तथा आमजनों से कहा कि सुपोषण अभियान हमारा समाजिक एवं नैतिक दायित्व है। समाज को कुपोषण मुक्त कर नौनिहालो को स्वस्थ जीवन प्रदान करना इस अभियान का लक्ष्य है। उन्होंने स्वास्थ्य एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा कि शिशुवती, गर्भवती तथा छोटे बच्चों को दिये जाने वाले पोषण आहार निरंतर मिले तथा स्वास्थ्य जांच एवं टीकाकरण नियत समय पर हो। कलेक्टर श्री धावड़े ने कहा कि प्रत्येक गांव में मनरेगा के माध्यम से लोगों को कार्य में नियोजित कर रोजगार प्रदान किया जाये। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि कोविड-19 के कारण स्कूल बंद है तथा वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर मोहल्ला क्लास के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। अभिभावक सुरक्षा मानकों साथ बच्चों को मोहल्ला क्लास में भेजे ताकि उनकी पढ़ाई जारी रहे। सम्बोधन के अंत में उन्होंने आमजनो से अपील कर कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनने, हाथ धोने  तथा दो गज की दुरी अनिवार्य रूप से पालन करने को कहा। पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने उपस्थित नागरिकों से कहा कि शांति और सौहार्द्र से ही समाज का विकास होता है जो आप सभी के सहयोग से ही संभव हो पायेगा। पुलिस प्रशासन जिले में जागृति अभियान चलाया गया था जिसका साकारात्मक परिणाम देखने को मिला है।
इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री अजय किशोर लकड़ा, जिला खाद्य अधिकारी श्री शिवेन्द्र काम्टे, जिला विपणन अधिकारी श्री अरूण विश्वकर्मा, ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष श्री रिपुजीत सिंह, विधाक प्रतिनिधि श्री विनोद तिवारी तथा अनुविभागीय स्तर के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।