Breaking News देश राज्य होम

बछरावां रायबरेली – जेपीएस महाविद्यालय के परिसर में महाविद्यालय के प्रबंधक एवं उपाध्यक्ष ने किया वृक्षारोपण

जेपीएस महाविद्यालय के परिसर में महाविद्यालय के प्रबंधक एवं उपाध्यक्ष ने किया वृक्षारोपण

रिपोर्ट उमेश वर्मा रायबरेली

बछरावां रायबरेली। वृक्षारोपण का शाब्दिक अर्थ है। वृक्ष लगाकर उन्हें उगाना इसका प्रयोजन करना है। प्रकृति के संतुलन को बनाए रखना। मानव के जीवन को सुखी, सम्रद्ध व संतुलित बनाए रखने के लिए वृक्षारोपण का अपना विशेष महत्व है। मानव सभ्यता का उदय तथा इसका आरंभिक आश्रय भी प्रकृति अर्थात वन वृक्ष ही रहे हैं। मानव को प्रारम्भ से प्रकृति द्वारा जो कुछ प्राप्त होता रहा है। उसे निरन्तर प्राप्त करते रहने के लिए वृक्षारोपण अती आवश्यक है। वृक्ष वातावरण को शुद्ध व स्वच्छ बनाते है। इनकी जड़ें भूमि के कटाव को रोकती है। वृक्षों के पत्ते भूमि पर गिरकर सड़ जाते हैं। तथा ये मिट्टी में मिलकर खाद बन जाते है। और भूमि की उर्वरा शक्ति को बढ़ाते है। वृक्षों के द्वारा मानव को शुद्ध हवा मिलती हैं जिसे वह अपने जीवन संचालन के लिए उपयोग करता है। वृक्षारोपण प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है इस दिवस पर करोड़ों वृक्षों का रोपड़ होता है जिससे पृथ्वी हरी भरी हो जाती है और यही आगे चलकर मानव जीवन के लिए उपयोगी बन जाते हैं । वृक्ष मानव को उपयोगी लकड़ी हवा खाने के लिए फल आदि देते हैं जिन्हें मनुष्य अपने जीवन संचालन के लिए उपयोग करता है। आज वृक्षारोपण के दिवस पर जेपीएस महाविद्यालय परिसर में महाविद्यालय के प्रबंधक के बी सिंह प्रशासनिक अधिकारी संजय सिंह उपाध्यक्ष दिलीप सिंह कोषाध्यक्ष बसंत लाल तथा महाविद्यालय स्टाफ प्राचार्य रोहन सिंह सहायक आचार्य अखिलेश यादव ,उमेश वर्मा विष्णु दत्त त्रिवेदी राजेंद्र पवन पांडे आदि लोगों ने महाविद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया और उन्होंने कहा की वृक्ष ही हमारे जीवन का आधार हैं अगर यह नहीं होंगे तो हमें शुद्ध वायु नहीं मिलेगी जिससे हमारा जीवन कष्ट मय हो जाएगा ।

“वृक्षारोपण से ही पृथ्वी पर सुखचैन है
इसे लगाओ जीवन का एक महत्वपूर्ण संदेश है.”