Breaking News देश राज्य होम

बछरावां रायबरेली-कानपुर विश्वविद्यालय से संबंध क्षेत्र के महाविद्यालय लुभावने अवसर एवं भ्रामक सूचनाएं प्रसारित कर छात्रों को कर रहे गुमराह

कानपुर विश्वविद्यालय से संबंध क्षेत्र के महाविद्यालय लुभावने अवसर एवं भ्रामक सूचनाएं प्रसारित कर छात्रों को कर रहे गुमराह

रिपोर्ट उमेश वर्मा इंडिया नाऊ 24
बछरावां रायबरेली

बछरावां रायबरेली। इस वैश्विक महामारी में जहां एक तरफ पूरा देश आर्थिक तंगी से गुजर रहा है। देश में निवास करने वाली जनता एक एक पैसे के लिए परेशान है यहां तक की कुछ लोगों के खाने तक के लाले पड़ गए बहुत से लोगों के रोजगार छिन गए। और वह बेरोजगार हो गए उनके पास ऐसा कोई साधन नहीं बचा जिसके द्वारा वह अपनी माली हालत सुधार सकें। इसी बीच जुलाई माह में कानपुर विश्वविद्यालय द्वारा महाविद्यालय में प्रवेश संबंधी रजिस्ट्रेशन प्रारंभ हो गए हैं। इस महामारी के दौर में भी महाविद्यालय अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। वे छात्रों को विभिन्न प्रकार के लुभावने अवसर एवं भ्रामक सूचनाएं देकर गुमराह कर रहे हैं। कोई महाविद्यालय शून्य शुल्क पर प्रवेश लेने के लिए तैयार हैं तो कोई 2000 में तो कोई 1500 ऐसा यह इसलिए कर रहे हैं केवल इन महाविद्यालयों का एक ही काम है किसी प्रकार से छात्र को अपने झांसे में लाकर केवल एक बार प्रवेश करा लें उसके बाद तो वह मनचाहा शुल्क वसूल लेते हैं। छात्र के पास एक बार प्रवेश शुल्क जमा कर देने के बाद फिर कोई रास्ता नहीं बचता है ।कि वह अन्य महाविद्यालय में प्रवेश ले सके । फिर यह महाविद्यालय अपने मनचाहे रूप से छात्र का शोषण करते हैं ।कभी विश्वविद्यालय शुल्क के नाम पर शुल्क लेते हैं तो कभी प्रयोगात्मक परीक्षा के नाम पर शुल्क लेते हैं। छात्र अगर इसका विरोध करता है तो महाविद्यालय उसको प्रैक्टिकल में नंबर ना देने की धमकी देते हैं जिससे छात्र कुछ नहीं कर पाता है। यह जिले के एक महाविद्यालय की बात नहीं है लगभग सभी महाविद्यालयों का यही हाल है। भ्रामक सूचना फैलाकर छात्रों को केवल गुमराह करना है। सरकार बड़े-बड़े दावे करती है कि हम शिक्षा से संबंधित अच्छी व्यवस्था दे रहे हैं। लेकिन हो इसका उल्टा रहा है महाविद्यालय छात्रों का शोषण लगातार करते हैं और भारी-भरकम रकम अपने खाते में जमा करते हैं।अब सवाल यह है कि इसका जिम्मेदार कौन है।