Breaking News देश राजनीती राज्य होम

फतेहपुर – असोथर क्षेत्र में बिना चेकअप क्वारंटाइन के गांव में पहुंच रहे परदेसी बाबू

फतेहपुर – असोथर क्षेत्र में बिना चेकअप क्वारंटाइन के गांव में पहुंच रहे परदेसी बाबू

असोथर – स्थानीय थाना क्षेत्र में इन दिनों लगभग पांच हजार की संख्या में परदेसी बाबू अपने गांव की तरफ लौटे हैं।
असोथर कस्बे के सर्वोदय इंटर कॉलेज में जांच व क्वारंटाइन करने का प्रबंध जिला प्रशासन द्वारा किया गया है।
बताते चलें कि यह जांच व जिला प्रशासन द्वारा किया गया प्रबंध उस तरीके से प्रभावी नहीं है, जितना कि इस महामारी में होना चाहिए।
जनपद में इन दिनों लगातार कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं जनपद अब तक कुल 9 कोरोना संक्रमित मरीज हो चुके हैं !
जिससे क्षेत्र के बुद्धिजीवी लोगों का कहना है कि लापरवाही के चलते ही जनपद अन्य कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या न बढ़ जाएं ..
सीएचसी और पीएचसी स्तर पर भी इंतजाम नाकाफी साबित हो रहें हैं , केवल थर्मल स्क्रीनिंग कर परदेशी बाबुओं को उनके गांव भेजा जा रहा हैं कहीं – कहीं पर अशिक्षित और अजागरूक गैर प्रदेशों आएं ट्रक व पैदल व चोरी छिपे आये श्रमिक बिना जांच क्वारंटाइन के सीधे अपने घरों में छुपकर बैठें हैं!
थानाक्षेत्र के विधातीपुर गांव में पिछले एक सप्ताह के अंदर ही लगभग 25 से 30 गैर प्रदेशों में कार्य करने वाले श्रमिक वापस लौटे हैं , जिनमे कुछ तो सरकार के नियम – कायदों का पालन कर रहें हैं , वह गांव से कुछ दूर खेत खलिहानों बागों पर क्वारंटाइन हैं , जबकि कुछ लापरवाह गैरजिम्मेदार श्रमिकों के लिए सारे नियम कायदे ठेंगे पर हैं रविवार की शाम को मुंबई से वापस लौट कर आएं श्रमिक सीधे अपने घरों में ही चले गए , गांव के कुछ लोगों के विरोध करने पर वह घर से बाहर निकले , गांव वालों ने कहा कि जब आप सब अपनी जांच व
चौदह दिनों तक बाहर क्वारंटाइन रहें फिर घरों में सबके साथ रहना ..
बाहर से आएं श्रमिकों को स्थानीय पुलिसकर्मी अपने थाना क्षेत्र से दूसरे थाना में पहुंचा कर मामले से अपना पल्ला झाड़ रहे हैं!
थाना क्षेत्र में समुचित व्यवस्था होने के बाद भी उसका संचालन ठीक ढंग से न होने के कारण लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है!
जिसका नतीजा यह है कि परदेसी बाबू की जांच ठीक ढंग से न करके व क्वारंटाइन न करके उनके घरों के लिए भेज दिया जा रहा है!
वहीं तमाम लोग इस बीमारी के चलते परदेश से आने वाले लोगों के कारण इस महामारी को लेकर काफी भयभीत हैं !