Breaking News देश राज्य होम

प्लास्टिक कैरीबैग, डिफेसमैंट ऑफ प्रोपर्टी एक्ट तथा कचरा जलाने वालों पर होगी कार्रवाई –

प्लास्टिक कैरीबैग, डिफेसमैंट ऑफ प्रोपर्टी एक्ट तथा कचरा जलाने वालों पर होगी कार्रवाई
–    निगमायुक्त यशपाल यादव ने संबंधित अधिकारियों को जारी किए आदेश
–    सभी कार्यकारी अभियंता, सहायक अभियंता, जूनियर इंजीनियर, वरिष्ठ
सफाई निरीक्षक तथा सफाई निरीक्षक को सौंपी जिम्मेदारियां

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम। नगर निगम गुरूग्राम द्वारा प्लास्टिक कैरीबैग, डिफेसमैंट ऑफ प्रोपर्टी एक्ट तथा कचरा जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाएगी। इसके तहत निगमायुक्त यशपाल यादव ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं।

निगमायुक्त द्वारा जारी आदेशों में सभी कार्यकारी अभियंताओं, सहायक अभियंताओं, कनिष्ठ अभियंताओं, वरिष्ठ सफाई निरीक्षकों तथा सफाई निरीक्षकों को प्लास्टिक कैरीबैग, डिफेसमैंट ऑफ प्रोपर्टी एक्ट तथा कचरा जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
प्लास्टिक कैरीबैग के बारे में जारी आदेशों में कहा गया है कि सभी कार्यकारी अभियंता, सहायक अभियंता, कनिष्ठ अभियंता, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक तथा सफाई निरीक्षक उनके अधीन क्षेत्र में प्लास्टिक कैरीबैग को बैन करने की कार्रवाई करेंगे। सभी संबंधित जूनियर इंजीनियर और वरिष्ठ सफाई निरीक्षक अपने-अपने क्षेत्र में निगरानी और चालान करने के लिए जिम्मेदार होंगे। इसके साथ ही ये डिफेसमैंट ऑफ प्रोपर्टी एक्ट का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई करेंगे। सलाहकार एचसी भाटिया साप्ताहिक आधार पर कार्रवाई रिपोर्ट एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर वाईएस गुप्ता के माध्यम से निगमायुक्त को भेजेंगे।

इसी प्रकार सभी सफाई कर्मचारी तथा अन्य फील्ड वर्क स्टाफ यह सुनिश्चित करेंगे कि नगर निगम क्षेत्र में किसी भी प्रकार का कचरा ना जलाया जाए। जूनियर इंजीनियर, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक, सफाई निरीक्षक तथा सफाई दरोगा कचरा जलाने वालों पर नजर रखेंगे तथा अगर कोई सफाई कर्मचारी भी उल्लंघन करता है, तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आदेशों में यह भी कहा गया है कि अगर किसी जूनियर इंजीनियर, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक, सफाई निरीक्षक और सफाई दरोगा के क्षेत्र में उक्त आदेशों की अवहेलना होती है, तो वह स्वयं जिम्मेदार होगा। जूनियर इंजीनियर, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक तथा सफाई निरीक्षक अवहेलना करने वालों के चालान करने के लिए सक्षम होंगे तथा साप्ताहिक रिपोर्ट सहायक अभियंता(स्वच्छता) को भेजेंगे। सहायक अभियंता पाक्षिक आधार पर एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर के माध्यम से निगमायुक्त को रिपोर्ट भेजना सुनिश्चित करेंगे।