Breaking News देश राजनीती राज्य होम

प्रियंका का BJP पर बड़ा हमला, कहा – दमनकारी विचारधारा की सरकार India Now24

प्रियंका का BJP पर बड़ा हमला, कहा- दमनकारी विचारधारा की सरकार

रविवार, दिसंबर 29 2019
प्रभंजन कुमार तिवारी, प्रधान संपादक
राजनीति के बड़े गढ़ उत्तर प्रदेश को लेकर बेहद गंभीर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पार्टी के 135वें स्थापना दिवस पर लखनऊ में हैं। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर बड़ी तैयारी में लगीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने लखनऊ में शनिवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी का ध्वज फहराने के बाद नेताओं को संविधान की शपथ भी दिलाई।पार्टी के नेताओं को शपथ दिलाने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि आज देश में वही शक्तियां सरकार चला रही हैं जिनसे हमारी ऐतिहासिक टक्कर रही है। प्रियंका ने कहा कि कांग्रेस की स्थापना आजादी की लड़ाई के नेतृत्व के लिए हुआ था। स्वतंत्रता संग्राम में सभी जाति धर्म के लोगों ने भागीदारी की। इस देश की मिट्टी में सभी का खून मिला है। एक दमनकारी विचारधारा है, आज भी हम उसी से लड़ रहे हैं जिससे हम आजादी के समय लड़े थे। जिन्होंने आजादी के संघर्ष में कोई योगदान नहीं दिया वे देशभक्त बनकर देशभर में भय फैलाना चाहते हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि जब-जब देश में भय का माहौल फैलाया जाता है तब-तब कांग्रेस का कार्यकर्ता खड़ा होता है। ऐसा इसलिए है कयोंकि हम अहिंसा की विचारधारा से उपजे हैं। इस समय देश देश संकट में है, आपने देखा कि पिछले दिनों में किस तरह की अराजकता फैली। देश के कोने-कोने में संविधान के खिलाफ बने कानून के विरोध में युवा आवाज उठा रहे हैं। प्रियंका गांधी ने सीएए को नोटबंदी का दूसरा रूप भी बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को छोड़कर देश की सभी पार्टियां भाजपा की केंद्र की तथा उत्तर प्रदेश की सरकार से डर रही हैं। हम तो इनकी हर दमनकारी नीति का जमकर और हर स्तर पर विरोध कर रहे हैं।इसके बाद प्रियंका सीधे नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी पर आ गईं। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों से देश में किस तरह की अराजकता है। संविधान की रक्षा के लिए ऐसे गलत क़ानूनों का विरोध करने वालों की आवाज दबाने का प्रयास सरकार ने किया। प्रियंका ने हिंसा में मारे गए युवक, उन्नाव दुष्कर्म कांड आदि का जिक्र किया। फिर कहा कि पहले डराए, दबाए और फिर पीछे हटे, वह कायर की निशानी होती है। सरकार को भी देखिए। पहले दमन कर दबाने का प्रयास किया, फिर कहने लगे कि एनआरसी की चर्चा ही नहीं की। यह सरकार की कायरता की निशानी है।सभा को प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी संबोधित किया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि आज का दिन एतिहासिक दिन है। आज के दिन ही कांग्रेस की स्थापना हुई थी। पार्टी की स्थापना अंग्रेजों की दमन कारी नीतिओं के खिलाफ आवाज उठाने को की गई थी। एक वो समय था जब हम गोरों से लड़ रहे थे लेकिन आज चोरों से लड़ रहे है। देश व प्रदेश में जो सरकार है वो घमंडी है। सरकार महिलाओं के साथ बच्चों की आवाज को कुचलने के काम कर रही है। अजय कुमार ने कहा कि किसान की आवाज हो या फिर नौजवान की आवाज। सभी को हर स्तर पर दबाया जा रहा है। सरकार तो अब लोगों के खिलाफ मुकदमा लिखकर उनको जेल भेजने में जुटी है। आज हम संकल्प लेते है कि किसानों की आवाज बनेंगे। छात्रों की आवाज बनेंगे और काग्रेस कार्यकर्ता चट्टान की तरह सरकार को घेरने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 19 दिसंबर को जो हिंसा हुई उसको सरकार ने प्रायोजित किया था। सरकार ने ही प्रदेश को हिंसा की आग में झोंका था। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार गोली चलवा कर लोगों की आवाज दबाने में जुटी है। सीएम योगी आदित्यनाथ कहते है कि हम बदला लेंगे। किससे बदला लेंगे सीएम साहब जिसने पूर्ण बहुमत से सत्ता देने का काम किया है। मंच पर पूर्व मंत्री सलमान खुर्शीद, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पूर्व मंत्री पीएल पुनिया, प्रदीप जैन आदित्य, जितिन प्रसाद और प्रमोद तिवारी भी थे।शुक्रवार रात लखनऊ पहुंची प्रियंका गांधी ने कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में शनिवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद व जितिन प्रसाद, पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी, राज्यसभा सदस्य पीएल पुनिया तथा अन्य की मौजूदगी में नेताओं को संविधान की शपथ दिलाई।प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में प्रदेश पदाधिकारियों के साथ संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। इसके साथ ही सभी को शपथ दिलाई। इस दौरान उन्होंने नारा भी लगाया ”जय संविधान”और ”भारत माता की जय”। प्रियंका गांधी ने प्रदेश कांग्रेस के मुख्यालय नेहरू भवन में पार्टी ने सभी नेताओं को स्थापना दिवस पर शुभकामना दी। इस अवसर पर उन्होंने कांग्रेस के उन नेताओं को याद किया जो बलिदान हुए जिन्होंने अपनी कुर्बानी दी। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी के सभी नेता व कार्यकर्ताओं को कांग्रेस के रास्ते पर चलने का निर्देश दिया। प्रियंका गांधी ने सभी को पूर्वजों के रास्ते पर चलने को कहने के साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया।