Breaking News देश बिज़नेस राजनीती राज्य होम

पूर्व में हुए धान खरीद घोटाले में संलिप्त सहकारी महिला उपभोक्ता समितियों की सरकारी समर्थन मूल्य पर उपज खरीद पर पाबंदी लगा दी गई

बहराइच ब्रेकिंग न्यूज –

पूर्व में हुए धान खरीद घोटाले में संलिप्त सहकारी महिला उपभोक्ता समितियों की सरकारी समर्थन मूल्य पर उपज खरीद पर पाबंदी लगा दी गई

रिपोर्ट – इंडिया नाउ 24 राहुल कुमार गौतम

पूर्व में हुए धान खरीद घोटाले में संलिप्त सहकारी महिला उपभोक्ता समितियों की सरकारी समर्थन मूल्य पर उपज खरीद पर पाबंदी लगा दी गई है। ये समितियां पीसीयू व पीसीएफ विभाग से सम्बद्ध होकर अरसे से धान व गेहूं खरीद कर रही थी। जांच में हुए खुलासे के बाद डीएम ने शासन को रिपोर्ट भेजी थी। जिसको संज्ञान में लेते हुए सरकार ने इन समितियों की खरीद पर पाबंदी लगा दी है।

सरकारी समर्थन मूल्य पर विभाग के साथ ही सहकारिता विभाग में पंजीकृत महिला उपभोक्ता समितियां भी धान व गेहूं खरीद में हाथ बंटा रही थी। पीसीएफ व पीसीयू से सम्बद्ध 23 एजेंसियों को भी क्रय केंद्र स्थापित कर किसानों से सीधे उपज खरीदने का अधिकार मिला हुआ था, लेकिन पिछले धान खरीद सत्र में रिसिया व नानपारा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर खरीद में अनियमितता की गई थी। यही नहीं अधिकार की आड़ में एजेंसियां फर्जी किसानों के नाम सरकार के धन का बंदरबांट कर रही थी। जिस पर जांच हुई तो इन्हीं एजेंसियों की खरीद में फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। जांच आगे बढ़ी तो अनियमितता के लगातार कारनामे उजागर हुए। इसके बाद डीएम ने इन एजेंसियों की जांच व खरीद पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की रिपोर्ट शासन को भेजा। जिस पर शासन ने सभी सम्बद्ध समितियों को खरीद से छुट्टी कर दिया। साथ ही इन एजेंसियों से जुड़े सचिव व अधिकारियों की जांच हो रही है। इस बार निजी समितियों की ओर से धान खरीद नहीं की जाएगी। शासन की ओर से खरीद पर रोक लगा दिया गया है।