Breaking News देश राज्य होम

दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे को एक्सीडेंट फ्री बनाने पर होगा काम: राव इंद्रजीत

दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे को एक्सीडेंट फ्री बनाने पर होगा काम: राव इंद्रजीत
-केंद्रीय राज्यमंत्री इंद्रजीत सिंह ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से की मुलाकात
-2021 तक मुंबई एक्सप्रेस वे तैयार करने का लक्ष्य

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। केंद्र सरकार राष्ट्रीय राजमार्गों को लेकर बड़े स्तर पर काम कर रही है। दुर्घटनाओं को लेकर भी सरकार का विशेष फोकस है। दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे को एक्सीडेंट फ्री बनाने की दिशा में काम होगा। योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए आने वाले दस वर्षों के भविष्य के बारे में सोचकर चलें। बुधवार को इस तरह के निर्देश केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत ङ्क्षसह की मौजूदगी में केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने अधिकारियों को दिये।
यहां राव इंद्रजीत ङ्क्षसह ने बताया कि वे दिल्ली-जयपुर नेशनल हाइवे की समस्रूाओं को लेकर नितिन गडकरी से मिले थे। इस दौरान उन्होंने मानेसर ऐलिवेटिड फ्लाईओवर, द्वारका एक्सप्रेस-वे, खेड़कीदौला टोल, दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे व बिलासपुर चौक सहित अनेक योजनाओं पर चर्चा की। राव इंद्रजीत ने केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री को दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे पर वाहनों की अनियंत्रित भीड़ से अवगत कराते हुए कहा कि मानेसर कस्बे के बीचों बीच से नेशनल हाईवे गुजर रहा है। मानेसर में लोगों को जान हाथ पर रखकर सड़क से गुजरना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि मानेसर में ऐलिवेटिड रोड का प्रोजेक्ट पिछले कई महीनों से अटका पडा है। राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों ने बताया कि प्रोजेक्ट के बजट को लेकर चर्चा चल रही है। जल्द ही इस कार्य को अमलीजामा पहनाया जाएगा।
अदालत से मामला निपटते ही शिफ्ट होगा खेड़कीदौला टोल
खेड़की दौला टोल प्लाजा को लेकर अदालत से सभी मामले निपटने के बाद उसे जल्द शिफ्ट करने की चर्चा के दौरान अधिकारियों ने बताया कि टोल कन्शेसनर ने दिल्ली की अदालत में एक मामला डाला हुआ है। इस मामले की जल्द सुनवाई को लेकर एनएचएआई की ओर से याचिका दायर की गई है। मामला जल्द ही निपटने के आसार हैं। उसके बाद टोल शिफ्ट करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। द्वारका एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य में और तेजी लाने का आग्रह करते हुए राव ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री को बताया कि द्वारका एक्सप्रेस के निर्माण के बाद लोगों को दिल्ली जाने में खासी सहूलियत मिल सकेगी।