Breaking News आर्टिकल करियर & जॉब खेल देश

तूफान से मची तबाही: अब तेजी से बढ़ रहा इस दिशा में,अलर्ट जारी

तूफान से मची तबाही: अब तेजी से बढ़ रहा इस दिशा में,अलर्ट जारी

साइक्लोन अम्फान बंगाल के दक्षिण हिस्से से आगे बढ़कर अगले छह घंटे में 13 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ पश्चिम बंगाल और ओडिशा की तरफ बढ़ रहा है।

वैसे तो पूरा देश वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रहा है। देश में इस वायरस ने तबाही मचा रखी है। इसी बीच भारत में एक और तूफ़ान आ गया है। चक्रवाती तूफ़ान अम्फान अभ धीरे धीरे भयानक रूप लेता अज रहा है। और दिन पर दिन खतरनाक बनता जा रहा है। भारतीय मौसम विभाग पहले ही पश्चिम बंगाल और ओडिशा के लिए अलर्ट जारी कर चुका है। मौसम विभाग साफ तौर पर ये बता चूका है कि अगले कुछ घंटे काफी महत्वपूर्ण हो सकते हैं। फिलहाल अम्फान साइक्लोन भयावह रूप लेने जा रहा है।

13 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बंगाल की और बढ़ रहा अम्फान।

अम्फान को लेकर पूरे देश में दहशत मची हुई है। खासकर पश्चिम बंगाल और ओडिशा को मौसम विभाग ने खासतौर पर सतर्क रहने को बोला है। मौसम विभाग के अनुसार साइक्लोन अम्फान बंगाल के दक्षिण हिस्से से आगे बढ़कर अगले छह घंटे में 13 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ पश्चिम बंगाल और ओडिशा की तरफ बढ़ रहा है। यह पश्चिम बंगाल, ओडिशा और बांग्लादेश के तटों से टकराएगा। साइक्लोन अम्फान आने वाले अगले 6 घंटे में और भी खतरनाक होने वाला है।
मौसम विभाग ने बताया कि इस चक्रवाती तूफ़ान के उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने और बंगाल के उत्तर-पश्चिमी खाड़ी में तेज रफ्तार पकड़ने के साथ ही इसके 20 मई की दोपहर या शाम को पश्चिम बंगाल को पार करने की संभावना है। इस बीच कोयंबटूर में इस अम्फान साइक्लोन ने तबाही मचानी शुरू भी कर दी है। यहां इस तूफ़ान के प्रकोप से पेड़-पौधे और बिजली के तार टूटने शुरू हो गए हैं। इस तूफ़ान के कहर से एक दीवाल गिरने से काफी नुक्सान हुआ है।

**160 किमी/घंटे अम्फान की गति, आने वाले घंटे खतरनाक**
अम्फान काफी तेज गति से आगे बढ़ रहा है। जिसको लेकर ओडिशा और बंगाल सरकार पहले से ही सतर्क और अलर्ट पर भी हैं। अम्फान की अभी की गति 160 किमी/घंटा है। वहीं मौसम विभाग का मानना है कि 19 मई को ये साइक्लोन और भी खतरनाक हो सकता है। और इसकी तबाही का मंजर और भी भयानक हो सकता है। वहीँ न्यूज एजेंसी का मानना है कि अम्फान सुपर साइक्लोन को रूप भी ले सकता है। भुवनेश्वर मौसम विज्ञान केंद्र के डायरेक्टर एचआर बिस्वास ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान अगले 12 घंटों में और तेज होने की संभावना है। तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने की आशंका। ओडिशा में इस तूफ़ान के चलते तटीय इलाकों में हलकी बारिश और कुछ इलाकों में ज्यादा बारिश की संभावना है।
मौसम विभाग ने बताया कि इस साइक्लोन की वजह से ज्यादातर तटीय इलाकों में बारिश की संभावना है। फिलहाल इस चक्रवाती तूफ़ान के मद्देनजर विशाखापट्टनम में भारतीय नौसेना के जहाज अलर्ट मोड में हैं। जहाजों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर और राहत सामग्री के साथ खाने के सामान, तम्बू, कपड़े, दवाएं, कंबल आदि पर्याप्त मात्रा में शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में बचाव और राहत प्रयासों को बढ़ाने के लिए जेमिनी बोट्स और मेडिकल टीमों के साथ बचाव दल भी तैयार हैं।