Breaking News देश राजनीती राज्य होम

चित्रकूट – जिले के समस्त प्रबंधक एवं प्रधानाचार्य के साथ जिलाधिकारी की शुल्क संबंधी बैठक

जिले के समस्त प्रबंधक एवं प्रधानाचार्य के साथ जिलाधिकारी की शुल्क संबंधी बैठक

रिपोर्ट:- राजीव रंजन मिश्र
डिस्ट्रिक्ट रिपोर्टर चित्रकूट

चित्रकूट – आज दिनांक 01.06.2020 को जिलाधिकारी श्री शेषमणि पांडे की अध्यक्षता में समस्त प्रबंधक तथा प्रधानाचार्य राजकीय, अशासकीय सहायता प्राप्त, वित्तविहीन मान्यता प्राप्त विद्यालयों के साथ कोरोनावायरस कोविड-19 के कारण महामारी के दृष्टिगत जनपद में संचालित शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा लिए जा रहे फीस शुल्क के संबंध में एक आवश्यक बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई।
जिलाधिकारी ने कहा कि शासन के निर्देशों के क्रम में मेरे द्वारा पूर्व में निर्देश दिए गए थे कि किसी भी संस्था द्वारा शैक्षणिक सत्र 2020- 21 में शुल्क वृद्धि नहीं की जाएगी तथा शैक्षणिक सत्र 2019- 20 में छात्र-छात्राओं से नव प्रवेश व प्रत्येक कक्षा हेतु लागू की गई शुल्क संरचना के अनुसार ही शैक्षणिक सत्र 2020- 21 में शुल्क लिया जाएगा किसी भी संस्था द्वारा लाक डाउन की अवधि तथा विद्यालय बंद रहने तक छात्र-छात्राओं से परिवहन शुल्क नहीं लिया जाएगा। किसी भी संस्था द्वारा छात्र व अभिभावक को 3 माह की अग्रिम शुल्क जमा करने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा ना ही विद्यालयों द्वारा चलाई जा रही ऑनलाइन पढ़ाई से किसी छात्र छात्रा को वंचित किया जाएगा तथा ना ही शुल्क जमा किए जाने के कारण किसी छात्र छात्रा का नाम विद्यालय से काटा जाएगा। समस्त संस्था द्वारा मासिक आधार पर ही शुल्क लिया जाएगा। इसके बावजूद भी कुछ विद्यालयों से शिकायतें लगातार प्राप्त हो रही हैं जो स्थिति ठीक नहीं है उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन नहीं किया गया।उन्होंने कहा कि आप लोग शासन के आदेश के क्रम में विद्यालयों का संचालन कराएं तथा इस महामारी को देखते हुए लोगों को स्वेच्छा से राहत दे पिंक कार्ड योजना के परिवारों की बेटियों को निःशुल्क शिक्षा अनिवार्य रूप से दी जाए जिससे बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ अभियान को साकार बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि माह अप्रैल, मई-जून में ट्यूशन फीस को छोड़कर अन्य कोई फीस कतई नहीं ली जाएगी। जिन विद्यालयों ने कोविड-19 को देखते हुए कुछ लोगों की फीस माफ की है वह लोग बधाई के पात्र हैं जो गरीब अभिभावक हैं उन पर दबाव ना बनाया जाए तथा जो व्यक्ति सक्षम है उनसे भी बिना किसी दबाव के मात्र ट्यूशन फीस ही लिया जाए। उन्होंने कहा कि अप्रैल, मई-जून की फीस न लेकर जुलाई से ऐड करते हुए फीस लें लेकिन इन 3 महीनों का वाहन आदि कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा और ना ही किसी भी दशा में शुल्क में वृद्धि की जाएगी।
बैठक में जिला विद्यालय निरीक्षक श्री बलि राज राम सहित संबंधित अधिकारी तथा विभिन्न विद्यालयों के प्रबंधक व प्रधानाचार्य मौजूद रहे।