Breaking News देश राज्य होम

खुले में जगह-जगह खुली मांस की दुकाने धार्मिक आस्था को पहुंचा रही  हैं चोंट

खुले में जगह-जगह खुली मांस की दुकाने धार्मिक आस्था को पहुंचा रही  हैं चोंट

– उपायुक्त मनीराम शर्मा ने दिये थे मीट दुकानों को हटाने के आदेश

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

नूंह। नूंह शहर में खुले में जगह-जगह खुली मांस की दुकाने धार्मिक आस्था को चोंट पहुंचा रही हैं । लोगों की माने तो यहां उपायुक्त रहे मनीराम शर्मा ने अपने एक आदेश में इन दुकानों को हटाने के लिए कवायद छेड़ी थी, लेकिन ऊपरी दबाव व अधिकारियों की निष्क्रियता के चलते उनकी यह योजना आज तक भी पूरी नहीं हो सकी हैं तथा शहर में हर चौक-चौराहे पर मूर्गा,बकरा, मछली की दुकाने खुली होना आम हो गया हैं। इससे मंदिर को जाने वाली महिलाओं को जहां धार्मिक रूप से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं तो वहीं, शहर की सुन्दरता को भी ग्रहण सा लग रहा हैं।
बता दें कि, जिला में उपायुक्त रहे मनीराम शर्मा ने दण्ड प्रक्रिया नियमावली 1973 की धारा 22(1) , 23(2) के अन्तर्गत शक्तियों का प्रयोग करते हुए एसडीएम नूंह के अनुरोध पर नूंह शहर में चल रही मीट की दुकानों को बंद करवाने के आदेश देते हुए इनको हटाने के लिए तहसीलदार नूंह को बतौर डयूटी मैजिस्टै्रट नियुक्त किया था तथा मौके पर भारी संख्या में पुलिस कर्मचारी तैनाती के आदेश दिये थे। इसके लिए अपने पत्रांक 2313-16 दिनांक 28-7-2017 के तहत पुलिस अधीक्षक नूंह, उप मण्डल मैजिस्टै्रट, तहसीलदार नूंह व नगरपालिका नूंह को उचित कार्रवाई के लिए लिखा था लेकिन आज तक भी यह आदेश पूरे नहीं किये गये हैं जिससे शहर में जगह-जगह मांस की दुकानें खुली हुई हैं। जबकि प्रशासन ने जोगीपुर रोड पर मीट मार्किट बनाई हुई है लेकिन नूंह शहर से बाहर दुकाने न जाने से वह खस्ताहाल हो गई हैं। शहरवासियों ने जिला प्रशासन से तुरंत मीट मार्किट को शहर से बाहर सिफ़्ट करने की मांग की हैं।
वहीं, गीता जयंती के अवसर पर नूंह शहर में भगवान श्री कृष्ण के द्वारा गीता श्लोकों की गूंज चहुं ओर है , नूंह शहर में जगह-जगह भगवान की प्रतिमा के तौरण द्वार लगाकर गीता जयंती मनाई गई, लेकिन खुले में मांस की दुकानों से धर्मपे्रमियों को दुख हो रहा है तथा नूंह के तावडू चौक पर मांस की बिरयानी की रेहडियों के बगल में लगा तौरण द्वार सनातन धर्म पे्रमियों की धार्मिक आस्था को क्षति पहुंचा रहा हैं।