Breaking News देश राज्य होम

कोरोना संक्रमण में त्योहारों को भी महत्व दे रहा है नवकल्प फाउंडेशन

कोरोना संक्रमण में त्योहारों को भी महत्व दे रहा है नवकल्प फाउंडेशन

-राहत शिविरों में लोगों को खाने के साथ मिली खीर
-नवकल्प फाउंडेशन के सहयोग से सिगनेचर सत्वा ने बांटी खीर
-भगवान महावीर जयंती के उपलक्ष्य में बांटी गई खीर
-कल बुधवार को हनुमान जयंती पर बांटेंगे बूंदी का प्रसाद

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24
गुरुग्राम। कोरोना संक्रमण के चलते बेशक तनाव की स्थिति हो। लोगों को भय का माहौल हो। इस माहौल के बीच भी नवकल्प फाउंडेशन तीज-त्योहारों को भी विशेष महत्व दे रहा है। लोगों को त्योहार, संस्कृति से जोड़े रखने के लिए फाउंडेशन की तरफ से लोगों को नियमित खाने के साथ-साथ महावीर जयंती के उपलक्ष्य में खीर का प्रसाद भी वितरित किया। इसी तरह कल बुधवार को हनुमान जयंती के मौके पर बूंदी दाना प्रसाद वितरित किया जाएगा।
महावीर जयंती के मौके पर सोमवार को तो नवकल्प फाउंडेशन द्वारा खीर का प्रसाद वितरित किया गया। सि
गनेचर सत्वा इंफ्राटेक कंपनी के चेयरमैन प्रवीण अग्रवाल की ओर से उपलब्ध कराए गए 250 किलो दूध से यह खीर बनाई गई। वहीं न्यू प्रीमो कंपनी की ओर से नवकल्प फाउंडेशन को दिए गए 420 किलो दूध को श्रीश्याम संकीर्तन मंडल को सौंप दिया गया। मंडल की ओर से खीर का प्रसाद बनाकर वितरित किया गया। इससे पूर्व दुर्गा अष्टमी, राम नवमी पर भी हलवा प्रसाद बांटा था।
नवकल्प फाउंडेशन के महासचिव डा. सुनील आर्य के मुताबिक कोरोना संक्रमण के चलते संस्था द्वारा नियमित रूप से लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के साथ-साथ राशन का वितरण किया जा रहा है। गुरुग्राम के विधायक सुधीर सिंगला के सानिध्य में महावीर जयंती के मौके पर यह खीर प्रसाद राजीव नगर, शीतला कालोनी, खांडसा समेत कई क्षेत्रों में 2000 से अधिक लोगों को आवंटित किया गया। आमजन के साथ-साथ पुलिस नाकों पर, पुलिस थानों में पुलिस के कर्मचारियों, अधिकारियों को खीर का प्रसाद वितरित किया गया। महावीर जयंती की बधाई देते हुए विधायक सुधीर सिंगला ने कहा कि हम अपनी संस्कृति को बखूबी निभा रहे हैं। अहिंसा के पुजारी भगवान महावीर के चरणों में नमन करते हुए विधायक सुधीर सिंगला ने कहा कि जल्द ही इस बीमारी को खत्म करके देश को फिर से जोश के साथ खड़े होने का साहस प्रदान करें। सिगनेचर सत्वा इंफ्राटेक के चेयरमैन प्रवीण अग्रवाल ने कहा यह ठीक है कि कोरोना वायरस से देश टेंशन में है। इस बीच अपने त्योहारों को भी मनाना सुखद अहसास की अनुभूति कराता है। समाज में रहकर हम सबको एक-दूसरे की कद्र, एक दूसरे की चिंता करनी चाहिए। आर्थिक दृष्टि से कोई अमीर, गरीब हो सकता है, लेकिन ऐसे दौर में ही हमारी पहचान होती है। नवकल्प फाउंडेशन ने जिस तरह से सेवा का झंडा थाम रखा है, वह काबिले तारीफ है।