Breaking News देश राज्य होम

केएमपी एक्सप्रेस-वे पर सड़क सुरक्षा के प्रति किया जागरुक

केएमपी एक्सप्रेस-वे पर सड़क सुरक्षा के प्रति किया जागरुक

-वाहन चालकों को जानकारी देकर दिये गये फूल

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। 31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 11 से 17 जनवरी 2020 के तहत अडानी लॉजिस्टिक्स पार्क पातली व ट्रैफिक पुलिस गुरुग्राम की ओर से केएमपी एक्सप्रेस-वे पर जागरुकता सेमिनार लगाकर अधिकारियों, कर्मचारियों और पुलिस कर्मचारियों ने वाहन चालकों न केवल यातायात के नियम बताये, बल्कि उन्हें नियमों के पालन करने की शपथ भी दिलवाई। सेमिनार का शुभारम्भ अडानी कम्पनी के हेड शांतनु राठी ने किया।
इस मौके पर शांतनु राठी ने बताया कि यातायात नियम का पालन नहीं करने के चलते देश में हर वर्ष एक लाख 20 हजार के करीब लोग सड़क दुर्घटना में मृत्यु को प्राप्त हो जाकेएमपी एक्सप्रेस-वे पर सड़क सुरक्षा के प्रति किया जागरुक
-वाहन चालकों को जानकारी देकर दिये गये फूल
गुरुग्राम। 31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 11 से 17 जनवरी 2020 के तहत अडानी लॉजिस्टिक्स पार्क पातली व ट्रैफिक पुलिस गुरुग्राम की ओर से केएमपी एक्सप्रेस-वे पर जागरुकता सेमिनार लगाकर अधिकारियों, कर्मचारियों और पुलिस कर्मचारियों ने वाहन चालकों न केवल यातायात के नियम बताये, बल्कि उन्हें नियमों के पालन करने की शपथ भी दिलवाई। सेमिनार का शुभारम्भ अडानी कम्पनी के हेड शांतनु राठी ने किया।
इस मौके पर शांतनु राठी ने बताया कि यातायात नियम का पालन नहीं करने के चलते देश में हर वर्ष एक लाख 20 हजार के करीब लोग सड़क दुर्घटना में मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं, वहीं 12 लाख 70 हजार लोग गंभीर रुप से घायल हो जाते है। अगर इन आकड़ों पर नजर दौड़ाई जाये तो प्रत्येक छह मिनट में एक मौत दुर्घटना के चलते हो रही है। सड़क हादसों पर अंकुश लगाने के लिए सबसे जरूरी है कि सड़क से सम्बंधित मूल नियमों का ईमानदारी से पालन किया जाए। चाहे पैदल चलने वाले हो या वाहन चालाने वाले नियम तो सभी के लिए समान है। वाहन चलाते समय मोबाइल फोन ना करे ना सुने, गाड़ी में संगीत धीमी गति से बजाये ताकि पीछे आ रहे वाहन का हॉर्न भी सुनाई दे सके। शराब पीकर वाहन न चलाये, कुछ लोग अपने आप को फेमस करने के चक्कर में बाईक या अन्य वाहनों से स्टंट्स करते है जो गलत ऐसा करके वह अपना व दूसरों का जीवन संकट में डाल रहे है। सीट बेल्ट, हेमेट का प्रयोग आदि के प्रयोग से दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है। इस मौके पर कपिल भारद्वाज, अनिल कुमार, राजीव शर्मा, टीनू आनंद, उत्तम कुमार, हिमांशु, सुभाष शर्मा, हर्ष आदि मौजूद थेते हैं, वहीं 12 लाख 70 हजार लोग गंभीर रुप से घायल हो जाते है। अगर इन आकड़ों पर नजर दौड़ाई जाये तो प्रत्येक छह मिनट में एक मौत दुर्घटना के चलते हो रही है। सड़क हादसों पर अंकुश लगाने के लिए सबसे जरूरी है कि सड़क से सम्बंधित मूल नियमों का ईमानदारी से पालन किया जाए। चाहे पैदल चलने वाले हो या वाहन चालाने वाले नियम तो सभी के लिए समान है। वाहन चलाते समय मोबाइल फोन ना करे ना सुने, गाड़ी में संगीत धीमी गति से बजाये ताकि पीछे आ रहे वाहन का हॉर्न भी सुनाई दे सके। शराब पीकर वाहन न चलाये, कुछ लोग अपने आप को फेमस करने के चक्कर में बाईक या अन्य वाहनों से स्टंट्स करते है जो गलत ऐसा करके वह अपना व दूसरों का जीवन संकट में डाल रहे है। सीट बेल्ट, हेमेट का प्रयोग आदि के प्रयोग से दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है। इस मौके पर कपिल भारद्वाज, अनिल कुमार, राजीव शर्मा, टीनू आनंद, उत्तम कुमार, हिमांशु, सुभाष शर्मा, हर्ष आदि मौजूद थे