Breaking News देश राज्य होम

ओवर लोडिंग वाहनो से बढ रहा है हादसो का खतरा

ओवर लोडिंग वाहनो से बढ रहा है हादसो का खतरा

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

सोहना। सोहना व आस पास की सड़कों पर ओवर लोडिंग वाहन दौड़ रहे है। ओवर लोडिंग वाहनों से सड़क हादसों की आशंका बढ़ रही है। सोहना से पलवल, नूंह, तावडू, इंडरी, दमदमा, बल्लभगढ़ और गुरूग्राम को जाने वाले मार्गों पर ओवर लोंिडंग वाहन दौड़ रहे है। विशेषकर रात के समय में राजस्थान व मेवात की तरफ से पत्थरों से भरे डंपर अधिक लोडिंग वाले होते है। दिन के समय में ओवर लोडिंग वाहनों को चालक ग्रामीण क्षेत्र से जाने वाले मार्गो से लेकर जाते है। जिनके कारण ग्रामीण क्षेत्र की सड़कें पर मात्र छह माह के अंदर ही गड़ढें बन जाते है। सड़क का नामुनिशान तक समाप्त हो जाता है। ग्रामीण क्षेत्र से गूजरने वाले डंपर राजस्थान या जिला नूंह के इलाकों से चोरी किया पत्थर को के्रसर जोनों में पहुंचाते है। जिसके कारण ओवर लोड पत्थर भरकर चलते है।
छह माह में बदले है चार वाहन
बीते छह माह में ओवर लोडिंग वाहन अलग-अलग सड़कों पर चार स्थानों पर पलटें है। जबकि दो डंपर गुरूग्राम मार्ग पर माइनिंग विभाग की टीम के पीछा करने के दौरान पत्थरों से भरे हुए पलटे है। जिससे पीछा कर रही विभाग की टीम के सदस्य बाल-बाल हादसे से बच गए थे। एक रात नगर के बाईपास चैक पर चोरी के पत्थरों से भरा डंपर तेज रफ्तार के दौरान पलट गया था। जिमसें कार चालक सहित बाइक सवार सहित करीब 8 लोगों की जान बच गई थी। जिसका पुलिस द्वारा मामला दर्ज कराया गया था।
क्या कहना है टैªफिक पुलिस अधिकारी का
सोहना के अंबेडकर बाईपास चैक पर तैनात एएसआई सतेन्द्र कुमार ने बताया कि ओवर लोडिंग वाहनों का चालान काटने का अधिकार आरटीओं का है। लेकिन ओवर लोडिंग वाहन रात के समय में ही दौड़ते है। जबकि उनकी ड्यूटी चैक पर सुबह 8 से रात 8 बजे तक ही होती है। उन्होने बताया कि पुलिस ओवर लोडिंग वाहनों की चालन नहीं काट सकती।