Breaking News देश राज्य होम

असंगठित क्षेत्र में कार्यरत मजदूरों को सरकार कर रही है अनदेखा – भारतीय मजदूर संघ

असंगठित क्षेत्र में कार्यरत मजदूरों को सरकार कर रही है अनदेखा – भारतीय मजदूर संघ

ब्यूरो चीफ योगेश गुरूग्राम India Now24
गुरुग्राम  ! भारतीय मजदूर संघ के आहवान पर सरकार जगाओं सप्ताह के छठे दिन असंगिठत क्षेत्र जिसमें निर्माण क्षेत्र के श्रमिक, दर्जी, रेहढ़ी फेरी वाले, घरेलु कामगार, कृषि मजदूर, लोडिंग-अनलोडिंग वर्कर, बीड़ी वर्कर्स, प्लांटेशन, वन कर्मचारी, मत्स्य क्षेत्र के श्रमिक, आदि शामिल है ने जिला उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन कर उपायुक्त महोदय के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौप कर अपनी-अपनी युनियनों की मांगों को सरकार तक पहुंचाया जिसकी अध्यक्षता भवन एवं सन्निमार्ण कामगार संघ हरियाणा के जिला अध्यक्ष जयदेव कोटड़ा ने की।
प्रदर्शन में शामिल सभी युनियनों के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए जयदेव कोटड़ा ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ ने सरकार की पब्लिक सैक्टर को बेचने और श्रम कानूनों को समाप्त करने के विरोध में 24 जुलाई 2020 से 30 जुलाई तक सरकार जगाओं सप्ताह का आहवान किया है। जयदेव ने कहा कि जिस प्रकार से देश में कोरोना काल चल रहा है, उससे सभी देशवासी प्रभावित हो रहे है। आज निर्माण श्रमिक पूरा पूरा दिन काम मिलेने की आस में लेबर चौको पर बैठा रहता है, लेकिन शाम होने तक भी मजदूरी नही मिलती है।   सरकार ने कई विभागों को आर्थिक सहायता पहुंचाई है, लेकिन असंगठित क्षेत्र के मजदूर साथियों के साथ सरकार ने सौतेला व्यवहार किया है। सरकार की घोषणाओं का लाभ पात्र मजदूरों तक नही पहुंच रहा है। निर्माण क्षेत्र में कार्यरत मजदूरों के लिए बने बोर्ड को भी अजीबों गरीब शर्ते लगााकर इतना मुश्किल बना दिया है कि मजदूर साथी के लिए उन्हे पूरा कर पाना आसान नही है। साथ सरकार द्वारा इनकी कापियों को भी रिन्यु नही किया जा रही है, जिससे भी काफी परेशानियां हो रही है। इसलिए उनकी कापियो को तुरंत रिन्यु किया जाएं व जिन श्रमिकों को आर्थिक सहायता नही मिली है, उन्हे तुरंत सहायता मुहैया करवाई जाएं।
घरेलु कामगार संघ हरियाणा की जिला अध्यक्ष रेखा ने कहा कि जब से लॉकडाउन लगा है, घरेलु कामगारों खासकर महिलाओं  के सामने बहुत बड़ा आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। ज्यादातर का काम छुट गया है और पुराने काम की सैलरी भी काफी श्रमिको की बाकी है। इसलिए हम सरकार से मांग करते है कि सभी घरेलु कामगारों को सरकारी राशन दिया जाएं एवं आर्थिक सहायता के रूप में 5000 रूपये की मदद की जाएं।
हॉकर जनकल्याण संघ के जिला अध्यक्ष किशनलाल ने कहा कि जिस प्रकार से केन्द्र सरकार ने रेहड़ी पटरी पर काम करने वाले मजदूरों के लिए आर्थिक सहायता की घोषणा तो की है, लेकिन अभी तक किसी को भी गुरूग्राम में बिना ब्याज के केन्द्र सरकार की घोषणा के अनुसार किसी को भी आर्थिक सहायता नही मिली है। आज हमारे सामने कोरोना महामारी तो है ही उसी के साथ हमारे परिवार का किस प्रकार से गुजारा होगा यह संकट भी है। किशनलाल ने कहा कि जिस प्रकार से गुरूग्राम का विकास हुआ है, लेकिन आज तक रेहड़ी पटरी वालों के लिए सरकार स्थायी जगह भी उपलब्ध नही करवा पाई है। साथ ही आये दिन जिस प्रकार से सदर बाजार और उसके आस पास के क्षेत्र में नगर निगम और हरियाणा सरकार के द्वारा इन लोगों का उत्पीड़न  शहर की सुर्खियों मे रहता है। इसलिए हमने मांग की है कि जो नगर निगम द्वारा छोटी छोटी दुकाने देकर बहुत बड़ा घोटाला किया है, जिसको तुरंत बन्द किया जाना चाहिए व सभी रेहड़ी पटअरी वाले श्रमिक भाई बहनों के लिए निश्चित जगह दी जाएं।
हरियाणा धोबी व प्रैस श्रमिक संघ के जिला अध्यक्ष अशोक माथुर  ने मांग की कि गुरूग्राम में 19000 से भी ज्यादा धोबी व प्रैस वाले कार्यरत है। उसके बावजूद सरकार से आज तक ना तो कोई आर्थिक सहायता मिली है और ना ही राशन दिया गया। संघ के कल्लू प्रधान ने कहा कि हरियाणा सरकार ने  सैक्टर 9 धोबी घाट, जिसको बनकर तैयार हुए 6 साल हो गए है, लेकिन आज तक उसको आवंटित नही किया गया। उन्होने मांग की कि जो श्रमिक  किराए के मकान में रहते है उनका किराया माफ करवाया जाएं।
इस अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश मंत्री विरेन्द्र शर्मा, भारतीय प्राईवेट ट्रांसपोर्ट मजदूर महासंघ के महामंत्री योगेश शर्मा, भवन सन्निर्माण कामगार संघ हरियाणा के ज्ञानचन्द, फारूक, पप्पू मिस्त्री, सोनिया, कार्यकर्म के जिला संयोजक सुरेश मलिक, सह संयोजक एवं हरियाणा राज्य परिवहन कर्मचारी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष समय सिंह, सुमन नरेश,  भारतीय मजदूर संघ के जिला कोषाध्यक्ष नवीन शर्मा, हरियाणा दवा प्रतिनिधी एसोसिएशन के मंत्री रमन सिंह, हुडडा कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष संजीव यादव, इल्किटीªकल युनियन के  प्रधान युद्ववीर सिंह, वजरी, केदार, राजेन्द्र, आन्नद, राजकुमार, कृष्ण गुर्जर, शिक्षा विभाग युनियन  के जिला मंत्री महेश कुमार, मुकेश, दिनेश, रमा व भारतीय मजदूर संघ के जिला मीडिया प्रभारी दीपचन्द निमरानिया, हुकम सिंह,दीपक पौदार, संजय कोहर सहित काफी संख्या में महिलाओं ने प्रदर्शन में भाग लिया। साथ ही भारतीय मजदूर संघ से सम्बंिधत युनियनों के पदाधिकारियो और कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।