Breaking News देश राज्य होम

अधिकार छीनने के विरोध में आरडब्ल्यूए ने विधायकों को सौंपे ज्ञापन

अधिकार छीनने के विरोध में आरडब्ल्यूए ने विधायकों को सौंपे ज्ञापन

-नगर निगम आयुक्त से भी मिलकर बताई अपनी पीड़ा

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। आरडब्ल्यूए से सेक्टर्स में सामुदायिक केंद्रों का रखरखाव की जिम्मेदारी आरडल्यूए से वापस लेने के विरोध में आरडब्ल्यूए आ गई हैं। बैठक के बाद आरडब्ल्यूए प्रतिनिधि केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ङ्क्षसह से भी मुलाकात कर चुके हैं। अब गुरुग्राम, बादशाहपुर के विधायकों के अलावा निगमायुक्त से मुलाकात करके प्रतिनिधियों ने अपनी बात रखी है।
नगर निगम गुरुग्राम की गत दिनों हुई सामान्य बैठक में मेयर मधु आजाद की अध्यक्षता में यह निर्णय लिया गया था कि आरडब्ल्यूए से सामुदायिक केंद्रों का रखरखाव वापस लिया जाये। उसे पार्षद संभालेंगे। इस पर तुरंत प्रभाव से मुहर लगा दी गई। जैसे ही इसकी भनक आरडब्ल्यूए को लगी तो वे इसके विरोध में उतर आये। केंद्रीय मंत्री एवं गुरुग्राम के सांसद राव इंद्रजीत ङ्क्षसह से मिलकर सारी बातें सांझा की और कहा कि वे मेयर मधु आजाद से इस बाबत बात करें, ताकि सामुदायिक केंद्र आरडब्ल्यूए के अधीन ही रहें। अब फिर से आरडब्ल्यूए प्रतिनिधियों ने शुक्रवार को गुरुग्राम के विधायक सुधीर सिंगला और बादशाहपुर के विधायक राकेश दौलताबाद को ज्ञापन सौंपकर इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की है। इसके अलावा नगर निगम आयुक्त विनय प्रताप ङ्क्षसह को भी पत्र सौंपा। सेक्टर-5 आरडब्ल्यूए अध्यक्ष दिनेश वशिष्ठ का कहना है कि दोनों विधायकों ने उन्हें आश्वासन दिया कि हम एक आपसी तालमेल का माहौल बनायेंगे, ताकि सभी विवाद खत्म हो सके। सभी पार्षद और आरडब्ल्यूए मिलकर अच्छा काम करें। दिनेश वशिष्ठ ने बताया कि विधायक राकेश दौलताबाद ने उनका खुला समर्थन किया है। वे आरडब्ल्यूए के साथ हैं। हम सब मिलकर विकास कराने के पक्षधर हैं। साथ ही विधायक राकेश दौलताबाद ने कहा कि अगर उन्हें इस बात की मांग विधानसभा में उठानी पड़ी तो वे उठायेंगे। सेक्टर-46 आरडब्ल्यूए अध्यक्ष राजकुमार यादव ने कहा कि सेक्टर्स के लोग अपनी शिकायतों को लेकर आरडब्ल्यूए से बात करते हैं। अगर सरकार आरडब्ल्यूए के अधिकार खत्म कर देगी तो सीधे गुरुग्राम की जनता का शोषण है। सेक्टर-17 सी आरडब्ल्यूए अध्यक्ष हितेश भारद्वाज ने कहा कि आरडब्ल्यूए को दोनों विधायकों का समर्थन हासिल है। इसलिए उन्हें पूर्ण विश्वास है कि उनके अधिकार सुरक्षित रहेंगे। विधायकों से मिलने वालों में वीरेंद्र त्यागी, ललित भोला, विनोद अरोड़ा, मलखान यादव, भ्रम यादव, मोहिंद्र यादव, सुरेश शर्मा, नरेश कटारिया समेत सभी आरडब्ल्यूए पदाधिकारी मौजूद रहे।